News
भारत

योगी सरकार का बड़ा फैसला- पत्रकारों को घोषित किया फ्रंटलाइन वर्कर्स, अब संस्थानों में कैंप लगाकर होगा वैक्सीनेशन

नई दिल्ली: देश में कोराना की दूसरी लहर लगातार विस्फोटक बनी हुई है. उत्तर प्रदेश में भी कोरोना महामारी के संक्रमण का कहर जारी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अगुवाई में यूपी सरकार लगातार कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए प्रभावी और कठोर कदम उठा रही है. इस महामारी की वजह से राज्य में अबतक कई पत्रकारों की मौत हो चुकी है. पत्रकारों के लगातार कोरोना संक्रमित होने की वजह से योगी सरकार ने राज्य के पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स की श्रेणी में डालने का फैसला किया है. 

योगी सरकार ने ऐलान किया है कि उत्तर प्रदेश में अब पत्रकार और उनके परिजनों को फ्री में वैक्सीन लगेगी. योगी सरकार ने ऐलान किया है कि राज्य में पत्रकारों के लिए अलग वैक्सिनेशन सेंटर बनाए जाएंगे. जहां पत्रकारों को प्राथमिकता के आधार वैक्सीन लगेगा. इसके साथ ही मीडिया दफ्तरों में भी कोरोना वैक्सीन लगेगी.

आपको बता दें कि प्रदेश में एक मई से 18 वर्ष की आयु से ऊपर के सभी लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा रहा है. अब इसमें पत्रकारों को भी प्राथमिकता दी जाएगी.

इस बीच राज्य एक और अच्छी खबर आई है. उत्तर प्रदेश में कोरोना का ग्राफ अब गिर रहा है. पिछले 24 घंटे में राज्य में कोरोना के 30 हजार से कम नए केस दर्ज हुए, जबकि 288 लोगों की मौत हुई है. वहीं ठीक होने वालों की संख्या साढ़े 38 हजार से ज्यादा है.   



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *