Close

Weather Alert: उत्तरी भारत में शीतलहर से बंधी लोगों की कंपकंपी, इन इलाकों में होगी मूसलाधार बारिश

News

नई दिल्लीः उत्तरी भारत में इन दिनों शीतलहर और कड़ाके की ठंड का कहर जारी है, जिससे परेशानी भी बढ़ती जा रही है. मैदानी इलाकों में तापमान लगातार नीचे गिरता जा रहा है, जिसके बाद लोगों की कंपकंपी बंधी है. वहीं, जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में 8 साल का सबसे कम तापमान दर्ज किया गया, जहां न्यूनतम तापमान शून्य से 7.8 डिग्री सेल्सियस सने नीचे चला गया. पहले 14 जनवरी, 2012 को इतना ही न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया था.

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक तमिलनाडु और केरल के दक्षिणी भागों और लक्षद्वीप में मध्यम से भारी बारिश जारी रहने की संभावना है. वहीं 12 घंटों के बाद, तमिलनाडु और केरल में बारिश कम हो जाएंगी, लेकिन लक्षद्वीप पर मध्यम बारिश उसके बाद भी जारी रह सकती है. उत्तरी केरल और आंतरिक तमिलनाडु में हल्की से मध्यम बारिश जारी रहने के आसार हैं.

हरियाणा, उत्तर प्रदेश, पंजाब और दिल्ली के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान 16 डिग्री से नीचे रहेगा, जिससे कोल्ड डे की स्थिति जारी रह सकती है. राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली के कुछ हिस्सों में शीतलहर का प्रकोप बने रहने की संभावना है. उत्तर-पश्चिमी ठंडी हवाओं का प्रभाव अब पूर्वी भारत के भागों में दिखने लगा है, जिससे तापमान में 1 या 2 डिग्री की गिरावट आई है. पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ हिस्सों में भी शीतलहर चल रही है.

वहीं, उत्तरी भारत में कड़ाके की ठंड का दौर जारी है. हिमाचल प्रदेश के केलांग और कल्पा में बुधवार को पारा शून्य से काफी नीचे चला गया, जबकि राजधानी शिमला में न्यूनतम तापमान 5.7 डिग्री सेल्सियस रहा. कल्पा में न्यूनतम तापमान शून्य से 2.6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. मनाली, कुफरी और डलहौजी में न्यूनतम तापमान क्रमश: एक डिग्री, सात डिग्री और 7.6 डिग्री सेल्सियस रहा. उत्तर प्रदेश के चुर्क में सबसे कम न्यूनतम तापमान 3.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. राज्य के दूरदराज इलाकों में कोहरा छाया रहा.



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top