विजय हजारे ट्रॉफी: पृथ्वी शॉ ने बनाया नया रिकॉर्ड, एक ही सत्र में ठाेंक डाले इतने रन

News

नई दिल्ली: विजय हजारे ट्रॉफी का फाइनल मुकाबला एक बार फिर मुंबई की टीम ने जीत लिया है. मुंबई ने यूपी की टीम को 41.3 ओवर में हराकर धमाकेदार जीत दर्ज कर ली. 313 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई के बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने शानदार बल्लेबाजी कर कई रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए. इसी के साथ विजय हजारे ट्रॉफी के एक ही सत्र में 800 से ज्यादा रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं. 

पृथ्वी ने फाइनल मुकाबले में 73 रन बनाए. पृथ्वी ने इसके साथ ही विजय हजारे ट्रॉफी के आठ मुकाबलों में 165.40 के औसत से 827 रन बनाए हैं. 21 वर्षीय शॉ ने 39 गेंदों पर 73 रन की पारी में 10 चौके और चार छक्के जड़े. 

उन्होंने इस सत्र में चार शतक जिसमें ग्रुप चरण में पुडुचेरी के खिलाफ नाबाद 227 बनाए और इसके साथ ही वह 50 ओवर के क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने वाले भारत के आठवें खिलाड़ी बन गए थे. 

पृथ्वी फाइनल मुकाबले में नियमित कप्तान श्रेयस अय्यर की जगह टीम की कमान संभाल रहे हैं. पृथ्वी ने कर्नाटक के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में विजय हजारे ट्रॉफी के एक सत्र में सर्वाधिक रन बनाने का मयंक अग्रवाल का रिकॉर्ड तोड़ा था. 

विजय हजारे ट्रॉफी से पहले पृथ्वी ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गए थे जहां वे नहीं चल सके, लेकिन इसके बाद पृथ्वी ने विजय हजारे ट्रॉफी में ऐसा धमाकेदार प्रदर्शन किया कि क्रिकेट के गलियारे वाहवाही से गूंज उठे. 



न्यूज़24 हिन्दी