Close

VIDEO: Uttarakhand के चमोली में 14 हजार फुट की ऊंचाई पर उस खतरे की आंखो देखी

News

नई दिल्ली. चमोली के रैणी गांव के पास glacier burst की घटना के बाद एक और झील बनने की सूचना पर SDRF की टीम 14 हजार फीट की ऊंचाई पर पहुंची. झील के पास पहुंचे SDRF के कमांडेंट नवनीत भुल्लर ने वहां से लाइव वीडियो बनाया है जिसे उत्तराखंड पुलिस ने अपने ट्वीटर हैंडल पर शेयर किया है. 

इस वीडियो में साफ दिख रहा है कि ऋषिगंगा नदी पर एक झील बनी हुई है. अनुमान था कि झील के फटने से फिर निचले हिस्सों में बाढ़ के हालात पैदा हो सकते हैं. वहीं नवनीत भुल्लर ने वीडियो बनाकर ये बताया कि झील से लगातार साफ पानी डिस्चार्ज हो रहा है. 50 मीटर की चौड़ी और करीब 300 मीटर तक की लंबाई वाली झाील है. झील में आइस का भी पार्ट है. एक नदी की तरह पानी डिस्चार्ज हो रहा है. ऐसे में ये खतरे की कोई संभावना नहीं है.

वहीं रेस्क्यू ऑपरेशन के आठवें दिन तपोवन के दूसरे टनल से सुबह 4 शव बरामद हुए हैं वहीं रैणी गांव के पास से दो शव मिले हैं. 204 में से 44 मिल चुके हैं. 160 लोगों की तलाश अभी भी जारी है. रेस्क्यू टीम का दावा है कि अभी भी टनल में फंसे लोगों को बचाया जा सकता है. बताया जा रहा है कि टनल में ऐसे गैप भी हैं जहां ऑक्सीजन है. वहां वर्कर्स के जिंदा होने की उम्मीद है. 



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top