Video: अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए मौजूद अव्यवस्थाओं को लेकर फूट-फूट कर रोने लगे कांग्रेस के नेता, देखें वीडियो

News

मध्यप्रदेश: एमपी-छत्तीसगढ़ में ‘आपकी बात कार्यक्रम’ के मध्य में ही एमपी कांग्रेस के उपाध्यक्ष सैयद जाफर प्रदेश के अन्दर, छिंदवाड़ा के अंदर कोरोना मरीजों के लिए अस्पतालों की व्यवस्थाओं के अभाव बताते हुए फूट-फूट कर रोने लगे और कहने लगे कि “मै हाथ जोड़कर आपसे निवेदन कर रहा हूं कि वो मर रहे हैं. उनके पास गोलियां नहीं है, उनके पास इंजेक्शन नहीं हैं, उनको ऑक्सीजन के बैड नहीं मिल रहे. मैं आज न्यूज24 को चुनौती देता हूं कि आज एक छिंदवाड़ा के शासकीय अस्पताल में खड़े होइये और देखिए वहां पे कैसे हमारी बहनों के सुहाग जा रहे हैं. डॉक्टर हैं, नर्से हैं बेड नहीं है, ऑक्सीजन नहीं है, गोली नहीं है. मैने अपने 15 दोस्तों को रात दिन में खो दिया.

मेरे भोपाल के चिरायु अस्पताल में आज भी मेरे करीब के 10 लोग भर्ती हैं, 8 पीपुल्स में भर्ती हैं, 8 नेश्नल हॉस्पीटल में भर्ती हैं. मै कह रहा हूं तुम आज आंकड़े छुपा रहे हो. तुम आज मौत के आंकड़े छुपा रहे हो. मैं चुनौती देता हूं अगर यही हालात रहे तो छिंदवाड़ा के अंदर, मध्य प्रदेश के अंदर आप लाशें नहीं गिन पाओगे… मेरा तो आज निवेदन है उस मामा शिवराज सिंह चौहान से, मेरा निवेदन है उस प्रभुराम चौधरी स्वास्थ्य मंत्री से जो पिछले 10दिनों के अंदर किसी भी शासकीय अस्पताल में नहीं गया, किसी भी मेडिकल कॉलेज में नहीं गया, किसी एक कोरोना से बीमार व्यक्ति से नहीं मिला… क्यों अपने मध्य प्रदेश के अंदर जेमू फ्लू की गोली नहीं मिल रही है.

क्यों छिंदवाड़ा के अंदर भोपाल के अंदर इंदौर के अंदर जबलपुर के अंदर रेमी डीसीआर क्यों नहीं मिल रहे हैं. यह कहते हैं कि हर व्यक्ति को रिमी डीसीआर के इंजेक्शन की जरूरत नहीं है. मैं चुनौती देता हूं छिंदवाड़ा में आओ और बताओ कि जिस व्यक्ति का ऑक्सीजन लेवल 60 हो गया. जिस व्यक्ति का ऑक्सीजन लेवल 50 हो गया उसको इंजेक्शन दोगे कि नहीं दोगे बुलाओ कलेक्टर छिंदवाड़ा को … सुमन को और उससे पूछो किस शासकीय अस्पताल छिंदवाड़ा के अंदर जो 700 से अधिक लोग भर्ती हैं उसमें से कितने लोगों को इंजेक्शन की आवश्यकता है.“



न्यूज़24 हिन्दी