Close

UP Budget Session 2021 : हंगामे के बीच राज्यपाल ने गिनाई सरकार की उपलब्धियां, गेट पर चढ़े सपा नेता

News

नई दिल्ली: कोरोना प्रोटोकॉल के साथ आज से उत्तर प्रदेश विधान मंडल का बजट सत्र शुरू हो गया है. बजट सत्र के पहले दिन समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता ट्रैक्टर से विधान भवन पहुंचे. वो ट्रैक्टर परिसर के अंदर ले जाना चाहते थे लेकिन मौके पर सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया. जिसके बाद वो चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के पास जाकर बैठ गए. इस दौरान वे लगातार नारेबाजी करते रहे. 

वहीं विधान भवन के सुरक्षा इंतजाम को धता बताते हुए समाजवादी पार्टी के नेता बोतलों में पेट्रोल तथा डीजल लेकर प्रवेश कर गए. इस दौरान इन लोगों ने पेट्रोल तथा डीजल से भरी बोतलों के साथ प्रदर्शन किया. विधान परिषद सदस्य सुनील सिंह साजन तथा आनंद भदौरिया की इस दौरान सड़क पर काफी देर तक पुलिस से झड़प भी होती रही. इस दौरान विधानसभा मार्ग पर यातायात को रोक दिया गया. किसी भी प्रकार के वाहन को इस मार्ग पर चलने की अनुमति नहीं है.

शोर-शराबे और हंगामे के बीच राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल ने विधानमंडल के दोनों सदनों के अधिवेशन को एक साथ सम्बोधित किया. अपने अभिभाषण के दौरान उन्होंने प्रदेश के योगी सरकार की कोरोना संकट के दौरान उपलब्धियों को गिनाने का काम किया. उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने अयोध्या में रामजन्म भूमि मंदिर निर्माण का शिलान्यास हुआ है. उन्होंने कहा कि अयोध्या में तीन दिवसीय और वाराणसी में देवदीपावली कार्यक्रम सम्पन्न हुआ. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सबका साथ सबका विकास के तहत काम कर रही है. अवस्थापना और औद्योगिक विकास के क्षेत्र में हमारी सरकार ने बडी सफलता हासिल की है.

राज्यपाल ने प्रदेश में बन रहे एक्सप्रेस वेज का जिक्र किया. इसके अलावा डिफेंस कोरीडोर की सराहना की. उन्होंने जेवर अन्र्तराष्ट्रीय हवाई अड्डा एवं कुशीनगर हवाई अड्डे को सरकार की बड़ी सफलता बताते हुए रोजगार के क्षेत्र में यह प्रदेश आगे बढ़ रहा हैं. सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योगों के कारण 27 लाख रोजगारों का सृजन किया गया है. जिसके कारण प्रदेश आत्मनिर्भर हो रहा है. प्रदेश सरकार की पारदर्शी नीति के कारण निर्यात के क्षेत्र में भी बड़ी सफलता मिली है. 

उन्होंने कहा कि उर्जा के क्षेत्र में पारेशण की व्यवस्था को बेहतरीन बनाया गया है जिसके कारण गांवों तक बिजली पहुंची है. सौर उर्जा नीति के कारण सौर उर्जा में भी प्रदेश सरकार ने उत्पादन बढाने का काम किया है.राज्यपाल ने कानून व्यवस्था का जिक्र करते हुए कहा कि अब तक एक हजार करोड की सम्पत्ति ध्वस्तीकरण तथा भूमफियाओं से अवैध जमीन वापस ली गयी है. माफियाओं ने न्यायालय में आत्मसमर्पण किया है. इसके अलावा साइबर थानों की स्थापना की गयी है. पुलिस बल में भर्तियों का काम चल रहा है. 

महिलाओं की भर्ती की गयी है. पुलिस अग्निशमन के लिए आवास सुविधा उपलब्ध कराई गयी है. राज्यपाल ने कहा कि केन्द्र सरकार की किसानों के लिए बनाई गई नीतियों के तहत अब तक 240 लाख किसानों को 27124 करोड़ की धनराशि उनके खातों में हस्तानितरित की गयी है. किसानों के लिए मण्डीशुल्क खत्म होने से बड़ी राहत मिलीहै. प्रदेश में गेहूं की खरीद की गयी है. उन्होंने कहा कि कोविड काल के दौरान भी कोई चीनी मिल बंद नहीं की गयी. न तो कोई कोरोना से पीड़ित हुआ. आनन्दी बेन पटेल ने कहा कि गोवंश के क्षेत्र में प्रदेश सरकार का बड़ा योगदान रहा है. पांच लाख से अधिक गोवंशों का संरक्षण किया गया है.</p>

 

 अपने 50 मिनट के उद्बोधन में आनन्दी बेन पटेल ने कहा कि जल जीवन मिशन योजना के तहत 30 हजार गांवो को पेयजल योजनाओं से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है. गंगा की निर्मलता के लिए मेरी सरकार प्रतिबंध है. जिसके तहत 44 योजनाएं संचालित हैं. उन्होंने प्रयागराज और वाराणसी की मेट्रों योजना की डीपीआर स्वीकृति हो चुकी है. इसके अलावा 10 स्मार्ट शहरों के चयन के बाद उन पर काम षुरू हो गया है. प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत 40 हजार आवासों का निर्माण किया जा रहा है. 

इस सत्र में योगी आदित्यनाथ सरकार अपने कार्यकाल का अंतिम पूर्ण बजट प्रस्तुत करेगी. विपक्ष भी सरकार की घेराबंदी करने के लिए कमर कसे हुए है. इसके चलते सत्र हंगामेदार रहना तय है. 

आपको बता दें कि कोरोना संकट काल में 2021-22 में विधानमंडल के इस प्रथम सत्र में कोरोना संक्रमण से बचाव के उपायों के इंतजाम हैं. सदन के भीतर सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन करते हुए सदस्यों के बैठने की व्यवस्था की गयी है.



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top