Close

इन यूजर्स का WhatsApp अकाउंट बंद करने की तैयारी में कंपनी, प्राइवेसी को लेकर कही ये बातें

News

नई दिल्ली : व्हाट्सएप (WhatsApp) के करोड़ों भारतीय यूजर्स के लिए बड़ी खबर है. 8 फरवरी से करोड़ों भारतीय व्हाट्सएप उपभोगताओं का अकाउंट बंद हो सकते हैं. दरअसल व्हाट्सएप अपनी सेवा की शर्तों और गोपनीयता नीति में बदलाव करने जा रहा है और इसे स्वीकार करने के लिए अपने ग्राहकों को लगातार मैसेज भेज रहा है. व्हाट्सएप का कहना है कि अगर यूजर्स नए बदलाव और शर्तों को स्वीकार नहीं करते हैं तो उनका अकाउंट बंद कर दिया जाएगा.

इन सबके बीच व्हाट्सएप यूजर्स के निजी मैसेज सर्च इंजन पर कथित तौर पर लीक होने की खबरों को लेकर विवाद खड़ा हो गया है. प्राइवेसी को लेकर उठे विवाद के बीच व्हाट्सएप ने एक बार फिर सफाई दी है. फेसबुक की स्वामित्व वाली मैसेजिंग सेवा व्हाट्सएप ने कहा कि नीति में हालिया बदलाव से दोस्तों या परिवार के साथ किए गए आपके मैसेज की निजता या गोपनीयता पर असर नहीं पड़ेगा. निजता विवाद के बीच व्हाट्सएप का यह दूसरा स्पष्टीकरण है. इससे पहले, कंपनी ने कहा कि नीति में बदलाव से सिर्फ व्हाट्स के बिजनेस अकाउंट पर प्रभाव पड़ेगा.  

नए पॉलिसी में व्हाट्सएप की तरफ से लिखा गया है कि ‘जब आप हमारी सेवाओं को इंस्टॉल करते हैं या उपयोग करते हैं तो व्हाट्सएप को अपनी सेवाओं को संचालित करने, उपलब्ध कराने, सुधारने, समझने, कस्टमाइज करने, सपोर्ट करने और मार्केटिंग की कुछ जानकारी इकट्ठा करनी होती है. हमारी सेवाओं का उपयोग करने वाले और आपस में बातचीत करने वाले व्यवसायों को अपनी बातचीत की जानकारी हमें देने की जरूरत है.’

व्हाट्सएप के मुताबिक नई सेवा शर्तें 8 फरवरी से लागू होंगी. मोबाइल मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने कहा कि वह अपनी सेवाओं को संचालित करने, उपलब्ध करने, सुधारने, समझने, कस्टमाइज करने, सपोर्ट करने और मार्केटिंग में मदद करने के लिए थर्ड-पार्टी सर्विस प्रोवाइडर और अन्य फेसबुक कंपनियों के साथ काम करता है.

आप को बता दें कि फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने पिछले दिनों कहा था कि कंपनी मैसेंजर चैट, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप को मर्ज करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं. ताकि वे एक तरीके से जुड़े इंटरऑपरेबल सिस्टम की तरह काम करना शुरू कर सकें. उन्होंने आगें कहा कि ‘हम निश्चित रूप से व्हाट्सएप को उस इंटरऑपरेबिलिटी में लाना चाहते हैं. इसके अलावा ऐसी और भी विशेषताएं हैं जो हम मैसेंजर, इंस्टाग्राम इंटरऑपरेबिलिटी में भी जोड़ना चाहते हैं.’



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top