कोरोना का बढ़ा कहर, इन 10 राज्‍यों ने बढ़ाई मोदी सरकार की टेंशन

News

नई दिल्‍ली: देश में आज कोरोना के 1 लाख 26 हजार से ज्‍यादा रिकॉर्ड केस सामने आए हैं, जिनके बाद मोदी सरकार के लिए एक बड़ी टेंशन खड़ी हो गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 10 राज्यों में कोविड-19 स्थिति पर चिंता व्यक्त की है, क्‍योंकि यहां से आने वाले मामले रोजाना तेजी से बढ़ रहे हैं.

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, इन राज्यों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात, केरल और पंजाब शामिल हैं. गुरुवार को दर्ज किए गए 1,26,789 नए संक्रमणों में इन राज्‍यों का 84.21 प्रतिशत हिस्सा है.

मंत्रालय ने कहा, “महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और केरल संचयी रूप से भारत के कुल सक्रिय COV-19 मामलों का 74.13 प्रतिशत है. अकेले महाराष्ट्र देश में कुल सक्रिय मामलों में 55.26 प्रतिशत है.”

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री ने साधा हर्षवर्धन का निशाना
छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की कोविड-19 हैंडलिंग पर राज्यों की आलोचना के लिए जमकर निशाना साधा है. उन्‍होंने कहा, ”यह एक दुर्भाग्यपूर्ण बयान है. उन्होंने 11 राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के जरिए एक बैठक की थी. उन्होंने कहा था कि हम एक साथ काम करेंगे. उनका बयान बहुत निराशाजनक है. यह सही और चिंताजनक है कि मृत्यु दर बढ़ रही है. लेकिन यह कहना कि यहां टीकाकरण नहीं किया जा रहा है, झूठ है.”

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केंद्र के आंकड़ों से पता चलता है कि छत्तीसगढ़ देश के शीर्ष 4 राज्यों में से एक है, जिसने अपनी जनसंख्या का 10% से अधिक टीकाकरण किया है.

झारखंड ने भी की टीको की कमी की शिकायत
महाराष्ट्र के बाद अब झारखंड ने राज्य में टीके की कमी की शिकायत की है. झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने गुरुवार को कहा कि राज्य को वैक्सीन की लगभग 1.60 करोड़ खुराक की आवश्यकता है और वर्तमान स्टॉक दो दिनों से अधिक का नहीं बचा है.

उन्‍होंने कहा, “लगभग 83 लाख लोगों को वैक्सीन की पहली और दूसरी खुराक प्राप्त करने की आवश्यकता है. इसका मतलब है कि हमें लगभग 1.60 करोड़ खुराक की आवश्यकता होगी. हम इसे धीरे-धीरे प्राप्त कर रहे हैं. हमारे पास उपलब्ध टीके हैं, लेकिन कुछ स्थानों पर इसकी कमी है. इसलिए हमने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से बात की है. हमारे पास अगले 1-2 दिनों के लिए स्टॉक है. हमने केंद्रीय गृह मंत्री से एक अनुरोध किया है और मुझे उम्मीद है कि वह हमें वैक्सीन प्रदान करेंगे.”



न्यूज़24 हिन्दी