Close

Shukrawar Ke Upay: शुक्रवार की रात जरूर करें ये छोटे से उपाय, मां लक्ष्मी की कृपा से बन जाएगे करोड़पति

News

Shukrawar Ke Upay: आज साल 2021 के फरवरी महीने का तीसरा शुक्रवार है. सनातन हिन्दू धर्म में  शुक्रवार का दिन यानि की मां लक्ष्मी  (Goddess Lakshmi)  का दिन होता है.  शुक्रवार का दिन मां लक्ष्मी और वैभव-विलास का दिन माना जाता है. धन की देवी मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए विधिवत रुप से पूजा करते हैं. शुक्रवार का दिन मां लक्ष्मी की पूजा के लिए शुभ माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि जो भी इस दिन सच्चे मन से उनकी पूजा करता है या फिर उनका ध्यान करता है उनकी इच्छा जल्द पूरी हो जाती है. 

धन एक ऐसी वस्तु है जिसके बिना किसी भी व्यक्ति का काम नहीं चलता. धन प्राप्ति के लिए लोग नौकरी, व्यवसाय या व्यापार आदि करते हैं. अनेक लोग धन पाने के लिए बुरे और घृणित कर्म करने से भी नहीं चूकते. इस प्रकार यह कहा जा सकता है कि प्रत्येक व्यक्ति धन लाभ के लिए अपना-अपना तरीका अपनाता है. इसके अलावा लोग लाभ मार्ग प्रशस्त करने तथा हानि से बचने के भी उपाय करते हैं. इन सभी स्थितियों की उपलब्धि आप टोने-टोटके द्वारा करके अपना जीवन सुखमय बना सकते हैं.

इस दिन लोग ज्यादा से ज्यादा कोशिश करते हैं कि वे मां लक्ष्मी को प्रसन्न कर सकें जिससे भविष्य में आगे कभी आर्थिक समस्या उत्पन्न ना हो. वैसे तो हर दिन हम किसी न किसी एक भगवान की पूजा करते हैं और सबके महत्व अलग-अलग भी होते हैं लेकिन मां लक्ष्मी के इस दिन की मान्यता ज्यादा होती है.

  ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक अगर शुक्रवार की रात को कुछ खास उपाय किए जाएं तो इससे माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और अपार धन-संपत्ति की प्राप्ति होती है.         

शुक्रवार रात करें ये उपाय (Shukrawar Ke Upay) 

 

– मां लक्ष्मी के वे 8 स्वरूप हैं- 1.श्री आदि लक्ष्मी, 2. श्री धान्य लक्ष्मी, 3. श्री धैर्य लक्ष्मी, 4. श्री गज लक्ष्मी, 5. श्री संतान लक्ष्मी, 6. श्री विजय लक्ष्मी या वीर लक्ष्मी, 7. श्री विद्या लक्ष्मी, 8. श्री ऐश्वर्य लक्ष्मी.

– मान्यता के मुताबिक महालक्ष्मी के आठों स्वरूपों की पूजा करने से जीवन में धन का अभाव समाप्त हो जाता है.  कर्ज से मुक्ति मिलती है, आयु बढ़ती है, बुद्धि तेज होती है और सेहत भी बनी रहती है. 

– मां लक्ष्मी के इन 8 स्वरूपों की पूजा शुक्रवार की रात को 9 बजे से 10 बजे के बीच ही करनी चाहिए और पूजा के सभी जरूरी नियमों का पालन करना चाहिए.

– शुक्रवार की रात मां लक्ष्मी के अष्ट रूपों की पूजा करते वक्त पिंक रंग के कपड़े पहनें और पूजा के जिस आसन पर आप बैठ रहे हैं वह भी गुलाबी रंग का ही होना चाहिए. 

– इसके अलावा मां लक्ष्मी की तस्वीर और श्री यंत्र को भी गुलाबी रंग के कपड़े पर ही स्थापित करें.

– पूजा की थाली में गाय के घी के 8 दीप जलाएं, लाल फूल और लाल फूल की माला देवी लक्ष्मी को चढ़ाएं और बर्फी का भोग लगाएं. 

– कमल गट्टे की माला हाथ में लेकर ‘ऐं ह्रीं श्रीं अष्टलक्ष्मीयै ह्रीं सिद्धये मम गृहे आगच्छागच्छ नम: स्वाहा’ इस मंत्र का 108 बार जाप करें. 

– जाप पूरा होने के बाद पूजा की थाली में रखे 8 दीप को घर की 8 दिशाओं में रखें और देवी लक्ष्मी से हाथ जोड़कर धन-समृद्धि में वृद्धि करने की प्रार्थना करें.

 



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top