Close

Tandav पर बढ़ते विवाद को देख घबराईं शर्मिला टैगोर, बेटे सैफ को दी ये बड़ी सलाह

News

मुंबई. साल 2021 की शुरुआत के साथ ही वेब सीरीज ‘तांडव’ रिलीज हुई. हालांकि अली अब्बास जफर की ये मोस्ट अवेटेड वेब सीरीज काफी समय से सुर्खियां बटोर रही थी. साथ ही इसे लेकर फैंस में अच्छा खासा बज क्रिएट हो चुका था. लेकिन सीरीज रिलीज होने के बाद का नजारा कुछ और ही देखने को मिला. वैसे तो ये सीरीज रिलीज के बाद भी खूब सुर्खियां बटोर रही है, फर्क सिर्फ इतना है कि अब इसे पॉजिटीव नहीं बल्कि जमकर नेगेटिव रिव्यूज मिल रहे हैं. साथ ही हिंदू धर्म के लोग इस सीरीज पर खुलकर आपत्ति व्यक्त करते देखे जा सकते हैं. इसी का नतीजा है कि सैफ अली खान स्टारर ये सीरीज अब अदालत जा पहुंची है. जहां सुप्रीम कोर्ट ने भी सीरीज के मेकर्स को लताड़ लगाई और मेकर्स की गिरफ्तारी की मांग पर अंकुश लगाने वाली याचिका को खारिज कर दी. सुप्रीम कोर्ट के सुनाए फैसले को देखकर सैफ अली खान की मां शर्मिला टैगोर काफी घबरा गई हैं. साथ ही उन्होंने अपने एक्टर बेटे को बड़ी सलाह दी है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक ‘तांडव’ को मिल रहे नेगेटिव रिव्यूज से शर्मिला टैगोर की स्वास्थ्य पर काफी बुरा असर पड़ा है. एक लीडिंग टेबलाईड की खबर के अनुसार, शर्मिला टैगोर ने अपने बेटे सैफ अली खान को इस विवाद के बाद सलाह दी है कि वह आगे से किसी भी प्रोजेक्ट को साइन करने से पहले स्क्रिप्ट अच्छे से पढ़ लें. दरअसल, शर्मिला टैगोर की ये चिंता करीना कपूर खान को लेकर है, करीना जल्द ही मां बनने वाली हैं. ऐसे में सैफ की मां नहीं चाहतीं की परिवार के किसी भी सदस्य को कोई परेशानी हो और इसका असर करीना या उनके बच्चे पर पड़े.

शर्मिला टैगोर की सैफ को सलाह

शर्मिला टैगोर ने इसी को लेकर सैफ को समझाया है कि वो कोई भी प्रोजेक्ट साइन करने से पहले एक बार उसे ठीक से पढ़ें और आगे-पीछे का सोच कर ही प्रोजेक्ट पर काम करने की हामी भरें. इसके साथ ही शर्मिला ने सैफ को कोई बयान देने से पहले भी सोचने की सलाह दी है. तांडव को लेकर बढ़ रहे विवाद को देखकर शर्मिला टैगोर काफी परेशान हैं.

मेकर्स को सुप्रीम कोर्ट की फटकार

हाल ही में सीरीज के डायरेक्टर अली अब्बास जफर ने गिरफ्तारी से अंतरिम राहत के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. जिसपर सुनवाई करते हुए SC ने अली अब्बास जफर समेत किसी को भी राहत देने से इनकार कर दिया है. साथ ही SC ने कहा है,’वाक् और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पूर्ण नहीं है.’ और यह कुछ पाबंदियों के अधीन है. सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा कि अली अब्बास जफर, अमेजन प्राइम इंडिया की प्रमुख अपर्णा पुरोहित और निर्माता हिमांशु मेहरा, शो के लेखक गौरव सोलंकी और एक्टर मोहम्मद जीशान अयूब वेब सीरीज के सिलसिले में दर्ज प्राथमिकियों के संबंध में हाईकोर्ट जाएं. मामले पर अगली सुनवाई चार हफ्ते बाद होगी. 



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top