Close

Republic Day 2021: यहां जानें- गणतंत्र दिवस से जुड़ी 10 बड़ी दिलचस्प बातें

News

नई दिल्ली:  26 जनवरी को हर साल गणतंत्र दिवस (Republice Day)  मनाया जाता है, क्योंकि इस दिन देश में संविधान (Constitution) लागू हुआ. यह तो सभी जानते हैं, लेकिन बहुत ही कम लोग यह जानते होंगे कि देश में गणतंत्र कितने बजे लागू हुआ और पहला झंडा किसने फहराया था. कुछ लोगों को इसकी जानकारी भी नहीं होगी कि गणतंत्र दिवस की पहली परेड कहां हुई थी. 

26 जनवरी 1950 को पहली गणतंत्र दिवस परेड इर्विन स्टेडियम (आज का नेशनल स्टेडियम) में हुई थी. साल 1950-1954 के बीच दिल्ली में गणतंत्र दिवस का समारोह, कभी इर्विन स्टेडियम, किंग्सवे कैंप, लाल किला तो कभी रामलीला मैदान में आयोजित हुआ. राजपथ पर साल 1955 में पहली बार गणतंत्र दिवस परेड शुरू हुई. कांग्रेस के लाहौर अधिवेशन में पहली बार तिरंगा फहराया गया. 

इतना ही नहीं हर साल 26 जनवरी के दिन पूर्ण स्वराज दिवस मनाने का भी निर्णय लिया गया. इस तरह, आजादी मिलने से पहले ही 26 जनवरी अनौपचारिक रूप से देश का स्वतंत्रता दिवस बन गया था.

पढ़िए गणतंत्र दिवस पर क्या-क्या हुआ था?

1- पहले गणतंत्र दिवस पर दिल्ली के इर्विन स्टेडियम में झंडा फहराया गया था.

2- पूर्ण स्वराज दिवस (26 जनवरी 1930) को ध्यान में रखते हुए भारतीय संविधान 26 जनवरी को लागू किया गया था.

3- 26 जनवरी 1950 को 10.18 मिनट पर भारत का संविधान लागू किया गया.

4- भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने गवर्नमैंट हाऊस में 26 जनवरी 1950 को शपथ ली थी.

5- गणतंत्र दिवस की पहली परेड दिल्ली के राजपथ पर 1955 को हुई थी.

6- राजपथ परेड के पहले मुख्य अतिथि पाकिस्तान के गवर्नर जनरल मलिक गुलाम मोहम्मद थे.

7- मोर को भारत का राष्ट्रीय पक्षी 26 जनवरी 1963 को घोषित किया गया था.

8- 1950 से 1954 के बीच गणतंत्र दिवस का समारोह इर्विन स्टेडियम किंग्सवे, लाल किला तो कभी रामलीला मैदान में हुआ करता था.

9- 26 जनवरी को ही सारनाथ के अशोक स्तंभ पर बने सिंह को राष्‍ट्रीय प्रतीक के रूप में अपनाया गया था.

10- गणतंत्र दिवस परेड 1950 को पहले चीफ इंडोनेशिया के तत्कालीन राष्ट्रपति ‘सुकर्णो’ थे.



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top