Close

पुडुचेरी में कांग्रेस सरकार पर संकट के बादल, 22 फरवरी को फ्लोर टेस्ट

News

केजे श्रीवत्सन, जयपुरः पुडुचेरी में कांग्रेस के 4 विधायकों के इस्तीफे के बाद राज्य सरकार पर संकट के बादल मंडराते दिखाई रहे हैं. राज्य के कार्यकारी उपराज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन ने सीएम वी. नारायणसामी को सदने में बहुमत साबित करने का निर्देश दिया है, जिसके लिए 22 फरवरी भी निर्धारित कर दी है. कांग्रेस के पास सदन में 11 विधायक हैं, जबकि सरकार बचाने के लिए 15 सदस्यों की जरूरत होगी. 

पुडुचेरी विधानसभा में 33 सदस्य चुने जाते हैं, जिनमें 30 सीटों पर ही चुनाव होता है, जबकि तीन विधायक को नॉमिनेटेड किया जाता है. यह तीनों इस वक्त बीजेपी के विधायक हैं. पुडुचेरी में 8 जून को सरकार का कार्यकाल पूरा होने जा रहा है.  कल कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी पुडुचेरी के दौरे पर गए थे. 

कांग्रेस और विपक्ष के पास अब 14-14 विधायक एक विधायक स्पीकर भी हैं, जबकि दूसरे को अयोग्य घोषित कर दिया गया है. ऐसे में विधायकों की संख्या घटकर अब केवल 29 ही रह गई है. किरण बेदी को 2 दिन पहले ही केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी के उपराज्यपाल पद से हटाया गया था. उनका प्रभार तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सौंदराराजन को दिया गया है. 

चेरी पहुंच कर तमिलिसाई सौंदराराजन ने ने कानून विशेषज्ञों से बातचीत की . बीजेपी और विपक्ष का प्रतिनिधिमंडल भी उनसे मिला. जिसके बाद  नारायणसामी सरकार को फ्लोर टेस्ट करने का उपराज्यपाल की ओर से निर्देश जारी किया गया है.



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top