आज से दो दिनों के लिए सरकारी बैंकों की हड़ताल, बैंकों के निजीकरण के खिलाफ काम ठप करने का ऐलान

News

मनीष कुमार, नई दिल्ली: आज से दो दिन देशभर में सभी सरकारी बैंक बंद रहेंगे. आज और कल यानी 15 और 16 मार्च को बैंक यूनियनों की हड़ताल है. निजीकरण के खिलाफ बैंक यूनियनों ने इस बंद का ऐलान किया है.  आप को बता दें कि पिछले महीने पेश किए गए केंद्रीय बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सरकार के विनिवेश कार्यक्रम के तहत अगले वित्त वर्ष में सार्वजनिक क्षेत्र के दो बैंकों के निजीकरण की घोषणा की थी. बैंकों के इस हड़ताल में करीब 10 लाख बैंक के कर्मचारी हड़ताल में शामिल होंगे.

दरअसल प्रस्तावित निजीकरण के विरोध में 9 यूनियनों के सम्मिलित संगठन यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंकिंग यूनियन ने दो दिवसीय राष्ट्रव्यापी इस हड़ताल का ऐलान किया है. इस हड़ताल से सोमवार और मंगलवार को देशभर में बैकिंग सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं. हड़ताल के कारण जमा और निकासी, चेक क्लीयरेंस और ऋण स्वीकृति जैसी सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं.

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंकिंग यूनियन ने एक बयान में दावा किया है कि बैंकों के लगभग 10 लाख कर्मचारी और अधिकारी हड़ताल में भाग लेंगे. भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) सहित कई सरकारी बैंकों ने अपने ग्राहकों को सूचित किया है कि यदि हड़ताल होती है, तो उनका सामान्य कामकाज शाखाओं और कार्यालयों में प्रभावित हो सकता है. 

 हालांकि, 15 और 16 मार्च को हड़ताल का कम असर कामकाज पर पड़े, इसके लिए कई खास कदम उठाए गए हैं. बैंक की मानें तो ब्रांच और दफ्तरों में सामान्य कामकाज सुनिश्चित रूप से चलता रहे, इसको लेकर इंतजाम किए हैं. वहीं हड़ताल के दौरान दूसरे ट्रांजैक्शन के विकल्प ग्राहकों के सामने उपलब्ध होंगे.



न्यूज़24 हिन्दी