Live: ‘परीक्षा पे चर्चा’ में बोले पीएम मोदी- मेरा अनुभव, जो कठिन उसे पहले हल करने की कोशिश करें

News

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विद्यार्थियों से परीक्षा पे चर्चा कर रहे हैं. पीएम विद्यार्थियों से परीक्षा के दौरान तनावमुक्त होने का संदेश दे रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, आपको परीक्षा का डर नहीं होना चाहिए बल्कि कोरोना काल में अपने आस-पास के माहौल और रिश्तेदारों का डर होना चाहिए. मोदी ने कहा, जिन चीजों के साथ आप सहज नहीं होते, उनके तनाव में आप 80 प्रतिशत एनर्जी लगा देते हैं. ऐसा नहीं होना चाहिए. 

पीएम मोदी ने कहा, शिक्षक कहते हैं, जो सरल है, उसे पहले करना चाहिए, लेकिन पढ़ाई को लेकर ये सलाह आवश्यक और उपयोगी नहीं है. जब पढ़ाई की बात हो तो उसमें जो पहले कठिन है, उसे पहले लें. मोदी ने कहा, मेरा अनुभव है, जब अफसर कठिन चीजें मेरे सामने लाते हैं, तो मैं उन्हें पहले करने की कोशिश करता हूं. बाद में सरल चीजों को हाथ में लेता हूं. 

पीएम मोदी ने कहा, सुबह उठता हूं तो कठिन से मुकाबला करता हूं. उन्होंने विद्यार्थियों से कहा, मुश्किल लगने वाले विषयों से दूर मत भागिए. शिक्षक सिलेबस के बाहर जाकर उनसे बातें करें. विद्यार्थियों को टोकने के बजाय उन्हें गाइड करें. बच्चों को प्रोत्साहित करें. किसी एक कमजोर बच्चे को सिर पर हाथ रखकर उन्हें प्रोत्साहित करेंगे, तो यह जरूर काम करेगा. 

पीएम मोदी ने कहा, परीक्षा जीवन को गढ़ने का एक अवसर है, उसे उसी रूप में लेना चाहिए. हमें अपने आप को कसौटी पर कसने के मौके खोजते ही रहना चाहिए, ताकि हम और अच्छा कर सकें. हमें भागना नहीं चाहिए.



न्यूज़24 हिन्दी