पीएम मोदी ने किया ममता बनर्जी पर हमला, TMC को बताया- ट्रांसफर माय कमीशन पार्टी

News

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 से पहले पुरुलिया में एक रैली को संबोधित किया और ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस पर जमकर हमला किया. उन्होंने ममता बनर्जी पर माओवादियों का समर्थन करने का आरोप लगाया. एक विशाल रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि दीदी बोले खेला होबे, जबकि बीजेपी ने विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार का वादा किया.

पीएम मोदी ने बनर्जी सरकार पर तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि टीएमसी को 10 साल के कुशासन की सजा दी जाएगी. पीएम ने बीजेपी के सत्ता में लौटने का भरोसा जताया और कहा कि 2 मई को दीदी जा रही है और असली बदलाव आ रहा है. उन्‍होंने कहा, ”पहले वामपंथियों और फिर टीएमसी की सरकार ने यहां उद्योग-धंधे पनपने नहीं दिए. यहां सिंचाई के लिए जितना काम होना चाहिए था, वो भी नहीं हुआ. कम पानी की वजह से पशुओं को पालने में होने वाली दिक्कत मैं भली-भांति जानता हूं.”

पुरुलिया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ”खेती-किसानों को अपने हाल पर छोड़कर टीएमसी सरकार सिर्फ अपने खेल में ही लगी रही. इन्होंने पुरुलिया को दिया है जल संकट से भरा जीवन, पलायन, गरीबों को भेद-भाव भरा शासन, इन्होंने पुरुलिया की पहचान देश के सबसे पिछड़े क्षेत्र के रूप में बनाई है. ये लोग कैसे काम करते हैं इसका उदाहरण है, पुरुलिया पाइप्ड वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट, 8 साल हो गए ये अब तक अधूरा पड़ा है. सारे बांध, सरोवर की स्थिति भी आपके सामने है, यहां के किसानों को इसका जवाब कौन देगा दीदी?”

प्रधानमंत्री ने कहा, ”2 मई के बाद जब पश्चिम बंगाल में बीजेपी की सरकार बनेगी तो उद्योग और रोजगार के लिए अनेक अवसर बनेंगे. यहां ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि लोगों को पलायन के लिए मज़बूर नहीं होना पड़ेगा. यहां कृषि आधारित उद्योगों को बल दिया जाएगा ताकि यहां के युवाओं को यही पर ज्यादा रोजगार मिल सके.” उन्‍होंने कहा, ”दलित, आदिवासी, पिछड़े इलाकों के हमारे युवा भी रोज़गार के अवसरों से जुड़ सकें, इसके लिए कौशल विकास पर और ज़्यादा फोकस किया जाएगा. यहां के छाऊ कलाकारों, यहां के हस्तशिल्पियों को कमाई और मान सम्मान से जुड़ी दूसरी सुविधाएं मिले, ये सुनिश्चित किया जाएगा.”

ममता बनर्जी पर हमला करते हुए पीएम ने कहा, ”पश्चिम बंगाल में TMC के दिन अब गिनती के रह गए हैं और ये बात ममता दीदी भी अच्छी तरह समझ रही हैं. इसलिए वो कह रही हैं, खेला होबे. जब जनता की सेवा की प्रतिबद्धता हो, जब बंगाल के विकास के लिए दिन-रात एक करने का संकल्प हो, तो खेला नहीं खेला जाता, दीदी. 10 साल के तुष्टिकरण के बाद, लोगों पर लाठियां-डंडे चलवाने के बाद, अब ममता दीदी अचानक बदली-बदली सी दिख रही हैं. ये हृदय परिवर्तन नहीं है, ये हारने का डर है. ये बंगाल की जनता की नाराजगी है, जो दीदी से ये सब करवा रही है.”

रैली में आए लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ”बंगाल के लोग बहुत पहले से कह रहे हैं- लोकसभा में TMC हाफ और इस बार पूरी साफ. लोगों का इरादा देख, दीदी अपनी खीज मुझ पर निकाल रही हैं. लेकिन हमारे लिए तो देश की करोड़ों बेटियों की तरह दीदी भी भारत की एक बेटी हैं, जिनका सम्मान हमारे संस्कारों में बसा है. तुष्टिकरण के लिए आपकी(ममता बनर्जी) हर कार्रवाई बंगाल के लोगों को याद है. बंगाल की जनता को याद है जब आपने देश की सेना पर तख्तापलट की कोशिश का आरोप लगाया, जब पुलवामा हमला हुआ तब आप किसके साथ खड़ी थीं ये भी बंगाल के लोग भूले नहीं हैं.”

प्रधानमंत्री ने कहा, ”बीजेपी की केंद्र सरकार की नीति है- DBT- यानि ‘डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर’. पश्चिम बंगाल में दीदी सरकार की दुर्नीति है- TMC- यानि ‘ट्रांसफर माय कमीशन’. यहां आयुष्मान योजना लागू नहीं हुई क्योंकि ‘ट्रांसफर माय कमीशन’ नहीं हो पाया.”



न्यूज़24 हिन्दी