बड़ी ख़बर

10 लाख से अधिक लोग प्रभावित, 25 की मौत

0
10 लाख से अधिक लोग प्रभावित, 25 की मौत


बीजिंग, 21 जुलाई (एजेंसी)

चीन के मध्य हेनान प्रांत में 1,000 वर्षों में सबसे भारी बारिश के कारण कम से कम 25 लोगों की मौत हो गयी है जिसके चलते राष्ट्रपति शी चिनफिंग को जलमग्न सबवे, होटलों और सार्वजनिक स्थानों में फंसे लोगों को बचाने के लिए बुधवार को सेना को तैनात करना पड़ा. सरकारी अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ की खबर के अनुसार, बाढ़ से कुल 12.4 लाख लोग प्रभावित हैं और 1,60,000 लोगों को बचाया गया है.

आधिकारिक मीडिया ने स्थानीय अधिकारियों के हवाले से बताया कि भारी बाढ़ में 25 लोगों की मौत हो गयी और सात अन्य लोग लापता हैं. सबवे स्टेशनों के बाढ़ की चपेट में आने के कारण 12 लोगों की मौत हो गयी और पांच अन्य घायल हो गए. हांगकांग स्थित साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने बताया कि उनकी मौत मंगलवार रात को तब हुई जब उनकी सबवे ट्रेन में बाढ़ का पानी बढ़ गया. एक दीवार के ढहने से भी दो लोगों की मौत हो गयीं.

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि बारिश का ऐसा कहर दुर्लभ ही देखने को मिलता है. भारी बारिश के कारण उत्पन्न हुई स्थिति से 1.26 करोड़ की आबादी वाली प्रांतीय राजधानी झेंगझोऊ में सार्वजनिक स्थानों और ‘सबवे टनल’ में पानी भर गया. सोशल मीडिया पर साझा की गई वीडियो में ‘सबवे’ में फंसे यात्री डरे हुए दिख रहे हैं, क्योंकि पानी उनकी गरदन तक पहुंच गया है. उन्हें वहां से निकाला गया या नहीं इसका पता नहीं चल पाया है. कई गाड़ियों के बह जाने और लोगों के बारिश के कारण सड़क पर बने गड्ढों में डूबने के भी वीडियो सामने आए हैं. बारिश का पानी शहर की ‘लाइन फाइव’ की सबवे सुरंग में चला गया, जिससे एक ट्रेन में कई यात्री फंस गए.

सरकारी समाचार एजेंसी ‘शिन्हुआ’ के अनुसार, शी ने पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की तैनाती का आदेश दिया और कहा कि सभी स्तर के अधिकारी लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करें क्योंकि झेंगझोऊ शहर में बाढ़ की स्थिति बिगड़ती जा रही है. खबर के अनुसार, ‘पीपुल्स लिबरेशन आर्मी सेंट्रल थिएटर कमान’ ने प्रभावित हेनान प्रांत के लिए तत्काल सैनिकों को भेज दिया है, जहां एक बांध के भारी बारिश के कारण क्षतिग्रस्त होने से कभी भी गिरने की आशंका है. पीएलए ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘वायबो’ पर अपने आधिकारिक अकाउंट पर कहा कि हेनान प्रांत के यिचुआन प्रांत में बांध में 20 मीटर लंबी दरार दिखाई दी है और वह कभी भी गिर सकता है.

‘पोस्ट’ की खबर के अनुसार, मौसम वैज्ञानिकों ने कहा कि 1000 वर्षों में ऐसी भीषण बारिश हुई है. इसके कारण अस्पतालों में भी बिजली नहीं है. ‘शिन्हुआ’ ने राष्ट्रपति शी के हवाले से कहा कि बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति से निपटने में परेशानी आ रही है.



दैनिक ट्रिब्यून से फीड

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *