इस कंपनी की कारों का दीवाना था ओसामा बिन लादेन, हम भारतीयों की भी है पहली पसंद, जानें खूबियां

News

नई दिल्ली: अक्सर हम लोगों का वास्ता ऐसी खबरों से पड़ता है जिनमें बताया जाता है कि किस सेलिब्रिटी, किस खिलाड़ी और किस एक्टर के पास कौनसी कार है. लेकिन इस खबर में हम आपको बता रहे हैं कि आतंकवाद के लिए पूरी दुनिया में कुख्यात ओसोमा बिन लादेन किस कंपनी की कारों का दीवाना था.

आपको ये जानना दिलचस्प लग सकता है कि आम भारतीय जिस कंपनी को मोटे तौर पर सिर्फ टूरिज्म के मतलब की कारें बनाने के लिए जानते हैं, उसी कंपनी की कारें दुनियाभर के आतंकवादियों की पहली पसंद हैं. हम बात कर रहे हैं जापानी कार निर्माता कंपनी “टोयोटा” की.

आप को बता दें कि टोयोटा का मिनी ट्रक हाइलेक्स दुनियाभर के आतंकवादी संगठनों की पहली पसंद माना जाता है. लेकिन नवंबर 2001 में न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी एक खबर की मानें तो अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन और उसके फौजी कमांडर मुहम्मद आतिफ को टोयोटा की ही एसयूवी लैंडक्रूजर बेहद पसंद थी. इसका एक कारण तो टोयोटा की कारों का लग्जरी होना है, लेकिन इससे भी बड़ी वजह ये है कि टोयोटा की कारें बेहद मजबूत होती हैं.

बता दें कि अलकायदा ही नहीं बल्कि Toyota Hilux दुनियाभर के आतंकी संगठनों का चहेता वाहन है. कुछ अंतरराष्ट्रीय रिपोर्ट बताती हैं कि वैश्विक स्तर पर हो रही अधिकतर गुरिल्ला (छापामार) लड़ाइयों में टोयोटा हाइलेक्स सबसे प्रमुख हथियार है. सोमालिया, निकारगुआ और चाड़ में इस गाड़ी की भारी खपत है.

बताया जाता है कि विद्रोही गतिविधियों में टोयोटा को सबसे पहले सोमालिया में ही उपयोग में लाया जाता था. साठ के दशक में जब सोमालिया और इथोपिया के बीच सीमा विवाद हुआ था तो सोमालिया ने टोयोटा की गाड़ियों का भरपूर इस्तेमाल किया. लेकिन बाद में इन गाड़ियों की सहूलियत को देखते हुए इन्हें समुद्री लुटेरे इस्तेमाल करने लगे.



न्यूज़24 हिन्दी