एंटीलिया के बाहर बम रखने के मामले में NIA का नया खुलासा

News

नई दिल्‍ली: मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर बम रखने के मामले में एक नया खुलासा हुआ है. मामले की जांच कर रही एनआईए ने उस इनोवा कार की पहचान की है, जिससे स्कॉर्पियो में विस्फोटक रखा गया था. इस कार की पहचान के साथ ही सचिन वाजे पर NIA का शक और गहरा गया है.

सूत्रों की मानें तो एनआईए को कुछ सीसीटीवी फुटेज बरामद हुए हैं. सीसीटीवी फुटेज में देखा गया है कि शक के घेरे में आई इनोवा कार दो बार मुम्बई पुलिस कमिश्नर के ऑफिस से निकली है. शक के दायरे में आई इनोवा कार का नंबर MH10AZ था, जो 24 फरवरी को करीब 11 बजकर 46 मिनट पर मुम्बई पुलिस कमिश्नर ऑफिस से निकली थी. इसी इनोवा कार का एक दूसरा सीसीटीवी फुटेज भी मिला है, जो 13 मार्च का है.

13 मार्च को दोपहर करीब 3 बजकर 15 मिनट पर संदिग्ध इनोवा कार कमिश्नर ऑफिस से निकलती है. इस समय भी गाड़ी का नंबर वही था, जो 24 मार्च को मुम्बई पुलिस कमिश्नर के ऑफिस से निकलते समय गाड़ी का नंबर था. एनआईए को शक है कि 24 फरवरी को संदिग्ध इनोवा कार कमिश्नर ऑफिस से निकलने के बाद ठाणे गयी, जहां पर गाड़ी का नंबर प्लेट बदला गया, क्योंकि संदिग्ध इनोवा कार का कई नंबर अलग-अलग टोल नाकों पर लगे सीसीटीवी में कैद हुआ है.

माना जा रहा है कि इन सीसीटीवी फुटेजों के बाद सचिन वाजे की मुश्किलें बढ़ सकती है. बता दें कि मुंबई पुलिस के क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट के पूर्व API सचिन वाजे को शनिवार देर रात NIA ने गिरफ्तार किया था. फिलहाल सचिन वाजे 25 मार्च तक के लिए NIA की कस्टडी में हैं.

NIA की थ्‍योरी
ठाणे से वो इनोवा कार 1 बजकर 20 मिनट पर मुलुंड टोल नाका पार कर मुंबई मुंबई आती है, उस समय गाड़ी का नंबर MH04AN** था. जिसके बाद प्रियदर्शनी के पास पहले से खड़ी स्कॉर्पियों गाड़ी से रात करीब 1 बजकर 40 मिनट पर मिलती है. फिर दोनों गाड़ी एक दूसरे के पीछे चलते हुए करीब 2 बजकर 18 मिनट पर मुकेश अंबानी म्बानी के बंगले के पास पहुंचती है, जहां पर 20 जिलिटीन के साथ स्कॉर्पियो को खड़ा किया जाता है. फिर दोनों ड्राइवर इनोवा में बैठकर वहां से फरार हो जाते हैं.

इसके बाद रात 3 बजकर 05 मिनट पर इनोवा मुलुंड टोल नाका पार करती है, उस समय गाड़ी का नंबर MH04AN** था. इसके बाद वही इनोवा गाड़ी नंबर प्लेट बदलकर वापस से एंटीलिया के पास आती है और अपनी पहचान छुपाने के लिए एक शख्‍स पीपीई किट पहना होता है. वो इनोवा फिर से सुबह करीब 4 बजकर 3 मिनट पर मुलुंड टोल पार कर मुंबई आती है, उस समय गाड़ी का नंबर MH10AZ** था. इसके बाद गाड़ी का नंबर बदल दिया गया था.

इसके बाद 4 बजकर 35 मिनट पर इनोवा गाड़ी का ड्राइवर उस जगह पहुचता है, जहां पर स्कॉर्पियो गाड़ी खड़ी की थी. संदिग्ध ने स्कॉर्पियो गाड़ी की जांच करता है और फिर सुबह करीब 5 बजकर 18 मिनट पर मुलुंड टोल पार वापस ठाणे की ओर चला जाता है.

इतने नंबर प्लेट बदलने के बावजूद कैसे हुई इनोवा की पहचान
एनआईए के सूत्रों की माने तो जिस समय इनोवा कार (उस समय गाड़ी का नंबर MH04AN** था) मुंबई में पहली बार आई, उस समय एक फुटेज में एजेंसियों को उस गाड़ी के पीछे के नंबर प्लेट के नीचे एक प्लास्टिक स्टिकर नजर आया था जोकि डेंट मार्क छुपाने के लिए लगाया गया होगा और जिस समय वो इनोवा (उस समय गाड़ी का नंबर MH10AZ** था) दोबारा मुंबई में आई उस समय भी गाड़ी के पीछे के नंबर प्लेट के नीचे एक प्लास्टिक का स्टिकर नजर आया.



न्यूज़24 हिन्दी