Close

मध्यप्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन का पूरा रोड मैप, जानिए कैसे लगेगी वैक्सीन

News

विपिन श्रीवास्तव, भोपाल: 16 जनवरी की सुबह 9 बजे से मध्यप्रदेश के 302 स्वास्थ्य केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन लगना शुरू होगी. जिसमें जिला अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, नागरिक अस्पतालों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, और चयनित निजी संस्थानों को चुना गया है. इसके लिए एमपी में 1149 वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए हैं और इतनी ही टीमें वैक्सीनेशन का काम करेंगी. हर एक टीम में 4 वैक्सीनेशन ऑफिसर ड्यूटी पर रहेंगे, जिनमें 2 एएनएम, एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और एक आशा कार्यकर्ता वैक्सीन लगाने की जिम्मेदारी संभालेंगे. 

16 जनवरी को वैक्सीनेशन के लॉन्चिंग पर भोपाल के जेपी हास्पिटल और इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज में इवेंट की वेबकास्टिंग के लिए खासतौर पर टू वे कम्युनिकेशन सिस्टम होगा. वैक्सीनेशन की मानीटरिंग के लिए स्टेट कंट्रोल रूम और कमांड सेंटर बनाया गया है. इसके अलावा हर जिले और ब्लॉक लेबल पर भी वैक्सीनेशन की निगरानी के लिए अलग से कंट्रोल रूम बनाए गए हैं. 

एमपी वैक्सीन की पहली खेप में 5 लाख 6 हजार डोज पहुंचे हैं जो सबसे पहले 4 लाख 16 हजार हैल्थ वर्कर्स को लगाए जाएंगे. जिनमें 3 लाख 31 हजार सरकारी और करीब 85 हजार निजी क्षेत्र के हैल्थ वर्कर्स शामिल किए गए हैं. 

भोपाल में 8 जिलों के लिए 94 हजार वैक्सीन के डोज

ग्वालियर में 13 जिलों के लिये 1 लाख 9 हजार 500

इंदौर में 15 जिलों के लिए 1 लाख 52 हजार 

जबलपुर में 15 जिलों के लिए 1 लाख 51 हजार

आपको बता दें कि वैक्सीनेशन की पूरी प्रक्रिया कंप्यूटराइज्ड और टेक्नालॉजी पर आधारित है. इसलिए रजिस्ट्रेशन कराने वाले जिन हैल्थ वर्कर्स को वैक्सीन लगना है इन्हें मैसेज भेजा गया है, जिसके बाद वैक्सीनेशन से पहले हैल्थ वर्कर्स को वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंचकर सबसे पहले वो मैसेज और अपना आईडी कार्ड दिखाना होगा जो उन्होंने वैक्सीनेशन के रजिस्ट्रेशन के लिए दिया था. 

इसके बाद वैक्सीन लगाई जाएगी. वैक्सीन लगने के बाद आंधे घंटे के लिए मानीटरिंग रूम में रखा जाएगा. वैक्सीन लगने के फौरन बाद हैल्थ वर्कर्स को एक मैसेज मिलेगा जिसमें लिखा होगा कि उन्हें टीका लग चुका है.

किस हफ्ते कितनों को लगेगा टीका

पहला सप्ताह: 16 से 22 जनवरी तक सभी सरकारी संस्थाओं के 57 हजार हेल्थकेयर वर्कर्स का टीकाकरण 150 साइट्स पर होगा.

दूसरा सप्ताह: 23 जनवरी से 30 जनवरी केन्द्र सरकार और प्रायवेट के 52 हजार हेल्थ केयर वर्कर्स को 177 साइट्स पर टीका.

तीसरा सप्ताह: 31 जनवरी से 6 फरवरी तक शेष सरकारी और निजी 55 हजार स्वास्थ्यकर्मियों को 150 साइट्स टीका.

चौथा सप्ताह :7 फरवरी से 13 फरवरी तक चौथे सप्ताह में पहले, दूसरे और तीसरे हफ्ते में बचे हुए 55 हजार स्वास्थ्यकर्मियों को 150 साइट पर टीका. 



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top