जयशंकर और जयराम में चले शब्दबाण
बड़ी ख़बर

जयशंकर और जयराम में चले शब्दबाण


नयी दिल्ली, 2 मई (एजेंसी)

विदेश मंत्री एस जयशंकर और कांग्रेस नेता जयराम रमेश के बीच युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा दो विदेशी दूतावासों को चिकित्सा आक्सीजन की आपूर्ति के मुद्दे पर सोशल मीडिया पर शब्दबाण चले. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कांग्रेस नेता जयराम रमेश पर निशाना साधा, जब उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि भारतीय युवक कांग्रेस विदेशी दूतावासों के संकटकालीन संदेशों (एसओएस) को देख रही है और आश्चर्य जताया कि क्या विदेश मंत्रालय सो रहा है?

विदेश मंत्रालय ने कहा कि वह भारत में सभी विदेशी दूतावासों के सतत संपर्क में है और उनकी चिकित्सा संबंधी तथा खास तौर पर कोविड-19 से जुड़ी मांगों पर जवाब दे रहा है. मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि दूतावासों की चिकित्सा संबंधी मांगों में अस्पतालों में उपचार संबंधी सुविधा मुहैया कराना शामिल है.

रमेश ने कल देर रात अपने ट्वीट में भारतीय युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी के ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक वीडियो को साझा किया, जिसमें दिल्ली में फिलीपीन के दूतावास में एक मिनी वैन ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ प्रवेश करते दिखाई देती है. रमेश ने भारतीय युवक कांग्रेस की सराहना की. वहीं, श्रीनिवास ने #एसओएसआईवाईसी कैप्शन के साथ वीडियो ट्वीट किया. श्रीनिवास ने अपनी टीम द्वारा न्यूजीलैंड उच्चायोग को ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति करने का वीडियो साझा किया. उन्होंने त्वरित राहत के लिए भारतीय युवक कांग्रेस की टीम को धन्यवाद दिया.

विदेशी मंत्री की टिप्पणी के बाद युवक कांग्रेस ने ट्वीट किया कि उसे फिलीपीन के दूतावास से दो कोविड-19 मरीजों के लिये आक्सीजन सिलिंडर की जरूरत संबंधी आग्रह प्राप्त हुआ था. उसने दूतावास से संदेशों के आदान प्रदान संबंधी कुछ अंशों को साझा करते हुए कहा कि सिलिंडर दूतावास से आग्रह मिलने पर भेजे गए थे और आपूर्ति के बाद दूतावास ने फेसबुक पर धन्यवाद दिया. इसके बाद पोस्ट को टैग करते हुए रमेश ने ट्वीट किया, ‘अब आप क्या कहेंगे, श्रीमान मंत्री, डा. एस जयशंकर.’ वहीं, न्यूजीलैंड उच्चायोग ने ट्वीट को हटा लिया और नया ट्वीट जारी किया,’ दुर्भाग्य से हमारी अपील का गलत अर्थ निकाला गया जिसके लिए हमें खेद है.’

सस्ती लोकप्रियता पाने का प्रयास

जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘एमईए ने फिलीपीन के दूतावास से संपर्क किया. यह अनचाही आपूर्ति थी और वहां कोई कोविड-19 का मामला नहीं था. स्पष्ट है कि यह आपकी ओर से सस्ती लोकप्रियता के लिए था. जब लोगों को ऑक्सीजन की काफी जरूरत हो, तब इस प्रकार से सिलेंडर देना विस्मयकारी है.’ उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘जयराम जी, एमईए कभी नहीं सोता है. हमारे लोग पूरी दुनिया में जानते हैं. एमईए कभी फर्जी बातें भी नहीं करता. हम जानते हैं कि कौन करता है.’



दैनिक ट्रिब्यून से फीड

You might also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *