Close

Ind vs Eng: दो कैप क्यों पहनते हैं कप्तान मॉर्गन, लकी चार्म या कुछ और? जानें

News

नई दिल्ली: भारत और इंग्लैंड के बीच हुए चौथे टेस्ट में भारतीय टीम ने धमाकेदार जीत दर्ज की. अब टीम आत्मविश्वास में है और सभी की निगाहें शनिवार को होने वाले मैच पर टिकी हैं. इस बीच इंग्लिश कप्तान इयोन मॉर्गन चर्चा में हैं. मॉर्गन चारों मैचों में दो टोपी पहनते हुए दिखाई दिए हैं. क्रिकेट के गलियारों में इसकी चर्चा है कि क्या ये कोई टोटका है, मॉर्गन का लकी चार्म या फिर कुछ और? मॉर्गन हमेशा दो कैप पहने हुए मैदान पर क्यों दिखाई देते हैं. 

दरअसल, मॉर्गन ऐसा इसलिए करते हैं क्योंकि कोविड से पहले गेंदबाजों को गेंदबाजी करते समय अंपायरों को अपना सामान (कैप, चश्मा आदि) सौंपने की अनुमति थी. कोरोनावायरस के बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) खिलाड़ियों के लिए कुछ विशिष्ट मानदंडों के साथ आया है. प्रोटोकॉल के अनुसार, खिलाड़ियों को अपनी वस्तुओं का ध्यान रखना होता है और उन्हें अंपायरों को रखने के लिए कहने की अनुमति नहीं होती. 

क्या कहता है नियम?

नियम कहता है कि ऑन-फील्ड प्रोटोकॉल के अनुसार, अनावश्यक बॉडी कॉन्टेक्ट नहीं होना है. अंपायरों या टीम के साथियों को आइटम (टोपी, तौलिये, धूप का चश्मा आदि) नहीं सौंपना है. 

प्रत्येक खिलाड़ी को अपनी वस्तुओं के लिए जिम्मेदार होना चाहिए. हालांकि गेंदबाजों के मामले में यह अलग है. इस नए नियम ने गेंदबाजों को अंपायर को अपने कैप देने से प्रतिबंधित कर दिया है. इसलिए मॉर्गन हमेशा दो कैप पहने हुए नजर आते हैं. 

चूंकि खिलाड़ी एक ही बायो बबल में रह रहे हैं, इसलिए उन्हें एक-दूसरे के सामान पर पकड़ने की अनुमति है. इसी का एक उदाहरण भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी टेस्ट के दौरान हुआ था. रविचंद्रन अश्विन के चेस्ट गार्ड को हनुमा विहारी द्वारा लिया जाना था. 



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top