Close

बर्ड फ्लू का कहर: 9 राज्यों में मचा हड़कंप, अब कैसे निपटेगी सरकार ?

News

आदेश सिंह राठौर, नई दिल्ली : कोरोना अभी खत्म हुआ भी नहीं है कि देश में बर्ड फ्लू ने दहशत फैला दी है. बर्ड फ्लू को लेकर 9 राज्यों में हड़कंप मचा हुआ है. हालांकि अभी तक 4 राज्यों में ही बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है. बर्ड फ्लू से देशभर में 10 दिन में 4 लाख 85 हजार से ज्यादा पक्षी मरे है. बर्ड फ्लू को लेकर आपको प्वाइंट टू प्वाइंट सबकुछ समझाते है. पहले ये जानिए बर्ड फ्लू कहां-कहां फैला है.

किन-किन राज्यों में फैला बर्ड फ्लू?

देश के 4 राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, केरल में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है..भोपाल की हाई सिक्योरिटी एनिमल डिजीज लैब में राजस्थान, केरल और एमपी के पक्षियों के सैंपल पॉजिटिव मिले हैं जिनमें बर्ड फ्लू का H5N8 वायरस मिला हैं. जबकि हिमाचल के पक्षियों के सैंपल में H5N1 वायरस पाया गया है. जो की बर्ड फ्लू का सबसे खतरनाक स्ट्रेन है. केरल में बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद बड़े पैमाने पर मुर्गों और बत्तखों को मारा जा रहा है.  जम्मू कश्मीर, तमिलनाडु, हरियाणा, उत्तराखंड, गुजरात और उत्तर प्रदेश में भी बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट जारी किया गया है. इन राज्यों में भी पक्षियों के सैंपल लिए जा रहे हैं.

देशभर में 10 दिन में 4 लाख 85 हजार से ज्यादा पक्षी मरे है. मध्य प्रदेश में बर्ड फ्लू से अबतक 400 पक्षियों की मौत हुई है. जबकि राजस्थान में 929 पक्षी बर्ड फ्लू से मरे है. हिमाचल प्रदेश की बात करें तो यहां बर्ड फ्लू 2 हजार 403 पक्षियों की जान ले चुका है. केरल मे भी बर्ड फ्लू पक्षियों की जान का दुश्मन बन गया है. केरल में इस फ्लू से 12 हजार बत्तखें मर चुकी है. केरल में 40 हजार पक्षियों को मारने का आदेश भी दिया गया है. गुजरात में 53 पक्षियों की मौत हुई है. हालाकि यहां अभी बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं हुई है. जबकि हरियाणा में 4 लाख से ज्यादा मुर्गियां मरीं है. यहां भी अभी बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं हुई है.

क्या है बर्ड फ्लू?

बर्ड फ्लू को एवियन इन्फ्लूएंजा के नाम से भी जाना जाता है. पक्षियों से एक दूसरे में फैलने वाला ये वायरस बेहद संक्रामक होता है. इस वायरस के कई स्ट्रेन होते हैं लेकिन सबसे खतरनाक स्ट्रेन ‘H5N1’ है. प्रवासी पक्षियों के जरिए ये वायरस एक देश से दूसरे देश में पहुंच जाता है. पक्षियों के नाक के स्राव, मुंह की लार या आंखों से निकलने वाले पानी के जरिए भी यह वायरस फैलता है. इतना ही नहीं बर्ड फ्लू पक्षियों के जरिए इंसानों में भी फैलता है. इसीलिए इसे बहुत खतरनाक माना जाता है

क्या हैं बर्ड फ्लू के लक्षण?

अगर कोई इंसान बर्ड फ्लू से संक्रमित है तो उसमें इस फ्लू के लक्षण 2 से 8 दिन में दिखने लगते है…बर्ड फ्लू से संक्रमित होने पर सामान्य फ्लू जैसे लक्षण ही दिखते है. बर्ड फ्लू के लक्षणों में तेज़ बुखार, खांसी, गले में खराश, मितली, उल्टी, सिर दर्द, जोड़ों का दर्द और आंखों का संक्रमण शामिल है. ये वायरल संक्रमण बढ़कर निमोनिया का रूप भी ले सकता है और सांस लेने में दिक्कत होने लगती है. अगर बर्ड फ्लू का संक्रमण बढ़कर निमोनिया बन जाता है तो इंसान की जान तक जा सकती है. प्रवासी पक्षियों से फैलने वाले बर्ड फ्लू का वायरस इंसानों में कभी-कभी ही देखने को मिला है. लेकिन इससे बेहद सतर्क रहने की जरूरत है.

इंसानों के लिए भी खतरनाक है बर्ड फ्लू 

बर्ड फ्लू कितना खतरनाक है, इसका अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि इंसानों में इस वायरस से मृत्यु दर करीब 60% है. जबकि कोरोना से पूरे विश्व में एक साल में मृत्यु दर 3 फीसदी रही है….यानि कोरोना वायरस के मुकाबले बर्ड फ्लू इंसानों के लिए बेहद खतरनाक है. अभी तक बर्ड फ्लू के इंसानों में आए मामलों की स्टडी में पाया गया है कि ये सभी इस वायरस से संक्रमित किसी जीवित या मरे हुए पक्षी के संपर्क में आए थे.

बर्ड फ्लू को लेकर केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकार तक एक्शन मोड में हैं. आपको बताते हैं कि बर्ड फ्लू को लेकर क्या-क्या कदम उठाए गए हैं .

बर्ड फ्लू को लेकर एक्शन में सरकार

देशभर में बर्ड फ्लू के बढ़ते मामलों को लेकर केंद्र सरकार ने दिल्ली में कंट्रोल रूम बनाया है, ये कंट्रोल रूम सभी राज्यों के संपर्क में रहेगा. इतना ही नहीं, हर राज्य से इसपर रिपोर्ट ली जाएगी.

मध्य प्रदेश

जिन चार राज्यों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है उनमें मध्य प्रदेश भी है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आपात मीटिंग की है.राज्य में जिला स्तर पर नजर रखने के निर्देश दिए गए है. सभी जिलों के पोल्ट्री फार्मों में रेंडम चेकिंग की जा रही है. बैठक में फैसला लिया गया कि दक्षिण भारत के कुछ राज्यों से कुछ दिनों के लिए पोल्ट्री का कारोबार रोक दिया जाए.

राजस्थान

राजस्थान में भी बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है. यहां  4 जिलों में बर्ड फ्लू फैला है. झालावाड़ के बाद जयपुर, कोटा और बारां में भी बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है राजस्थान के बारां में 100 से ज्यादा पक्षियों की रहस्मयी मौत के बाद वन विभाग ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है

हिमाचल प्रदेश

हिमाचल में भी बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है. कांगड़ा के 4 इलाकों में मछली-मुर्गे की बिक्री पर बैन लगा दिया गया है. राज्य सरकार ने अलर्ट जारी किया है. साथ ही स्थिति पर काबू पाने के लिए सतर्कता बढ़ा दी है.

केरल

केरल में बर्ड फ्लू को राज्य आपदा घोषित किया गया है. केरल के अलप्पुझा और कोट्टायम जिलों में बर्ड फ्लू के मामले आए हैं. सरकार ने इसे राज्य आपदा घोषित कर दिया है. बर्ड फ्लू को लेकर हाई अलर्ट भी जारी किया है

दिल्ली

दिल्ली में भी बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट है. केन्द्र सरकार की गाइडलाइन के बाद दिल्ली सरकार ने भी एहतियाती कदम उठाते हुए निर्देश जारी किए हैं.दिल्ली में पक्षियों की मौत का कोई भी मामला सामने आने पर तुरंत स्टेट नोडल पशुपालन विभाग को रिपोर्ट करने को कहा गया है.

बर्ड फ्लू इतना खतरनाक है कि कब महामारी का रूप ले ले कोई नहीं कह सकता. इंसान में मुर्गियों से इस वायरस के फैलने की संभावना सबसे ज्यादा है. ऐसे में इससे कैसे बचाव किया जा सकता है. इसे जानना भी बेहद जरूरी है.

बर्ड फ्लू से बचने का सबसे आसान उपाय यही है कि संक्रमित पक्षियों से दूर रहें. खासकर मरे हुए पक्षियों को लेकर सतर्कता बरतें. बर्ड फ्लू का संक्रमण फैला होने पर नॉनवेज से बिल्कुल दूर रहें. बर्ड फ्लू के समय साफ सफाई का भी बेहद ध्यान रखें. नॉनवेज खरीदते समय साफ-सफाई पर सबसे ज्यादा ध्यान दें. इतना ही नहीं बर्ड फ्लू के संक्रमण वाले एरिया में कोशिश करें कि ना जाएं. अगर जाएं तो मास्क पहनकर जाएं और किसी भी चीज को छूने से बचें .



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top