Close

हितेशा चंद्रानी घिरीं, जोमैटो मामले में आया नया मोड़

News

बेंगलुरू: बेंगलुरू में हुए जोमैटो मामले में अब तक कई बातें सामने आ चुकी हैं. 10 मार्च को हितेशा चंद्रानी नाम की युवती ने वीडियो जारी कर आरोप लगाया था कि फूड डिलिवरी बॉय ने उन्हें नाक पर मुक्का मारा, जिसके बाद खून निकलने लगा. इसके बाद डिलिवरी बॉय को जोमैटो ने सस्पेंड कर दिया. हालांकि इसके बाद डिलिवरी बॉय कामराज ने मीडिया में कहा था कि हितेशा को ये चोट उन्हीं की रिंग से लगी है. जोमैटो के मालिक दीपेंदर गोयल ने भी दोनों पक्षों का समर्थन करने की बात कही थी. पुलिस की जांच जारी है और इस बीच मामले में नया मोड़ आ गया है. 

अब पीड़िता हितेशा के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. महिला पर डिलिवरी बॉय के साथ मारपीट करने का आरोप लगाया गया है. शिकायत में कहा गया है कि आरोपी महिला ने डिलीवरी बॉय को गालियां दीं, अपशब्द कहे, चप्पल से पीटा और फिर बाद में उसी के खिलाफ झूठी शिकायत दर्ज करवा दी. ये एफआईआर डिलिवरी बॉय कामराज की शिकायत पर दर्ज कराई गई है. इलेक्ट्रॉनिक सिटी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है. इसी थाने में पहले कामराज के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. 

जोमैटो मालिक ने दिया ये बयान 

जोमैटो के मालिक दीपेंदर ने ट्वीट कर कहा था, हमारी सबसे पहली प्राथमिकता सच को बाहर लाना है. इस बीच हम डिलवरी बॉय और कस्टमर हितेशा को मदद कर रहे हैं. हालांकि अभी इंवेस्टिगेशन चल रही है और हम इसमें पुलिस की पूरी मदद कर रहे हैं. हम हितेशा से लगातार संपर्क में हैं. उनकी मेडिकल सहायता और उन्हें कानूनी प्रक्रिया आगे बढ़ाने में मदद कर रहे हैं. इसके साथ ही हम डिलिवरी बॉय कामराज के भी संपर्क में हैं और उनकी हर संभव मदद कर रहे हैं, ताकि पूरा सच बाहर आ सके. 

प्रोटोकॉल के अनुसार हमने डिलिवरी बॉय कामराज को डिलिवरी से सस्पेंड कर दिया है, लेकिन चूंकि पुलिस कार्यवाही चल रही है तो ऐसे में हम उनकी इस दौरान आर्थिक मदद करने की भी कोशिश कर रहे हैं. हम कामराज की कानूनी प्रक्रिया के दौरान होने वाले खर्च में भी मदद कर रहे हैं. कामराज के रिकॉर्ड की बात की जाए तो उन्हें 5 हजार से ज्यादा डिलिवरी का अनुभव है और उन्हें 5 में से सबसे ज्यादा 4.75 स्टार रेटिंग मिली हुई हैं. वह हमारे साथ 26 महीनों से काम कर रहे हैं. 

क्या है मामला 

बेंगलुरू में जोमैटो डिलीवरी बॉय के द्वारा महिला पर अटैक मामले ने तूल पकड़ लिया है. 10 मार्च को एक घायल महिला ने इंस्टाग्राम पर वीडियो शेयर कर डिलीवरी बॉय द्वारा नाक पर मुक्का मारने का आरोप लगाया था. वीडियो में हितेशा चंद्रानी नाम की महिला ने कहा था कि मेरा जोमैटो ऑर्डर लेट हो गया, इस दौरान मैं ग्राहक सेवा प्रतिनिधि से बात करने लगी. 

इस बीच डिलीवरी बॉय ने मेरी नाक पर हमला कर मुझे घायल कर दिया. इसके बाद मैं भागी. महिला ने ये भी कहा कि ऑर्डर लेट हो जाने के बाद मैंने जोमेटो से इस ऑर्डर को कैंसल करने या फिर फ्री डिलवरी देने का अनुरोध किया. 

गुरुवार को जोमेटो के डिलीवरी बॉय कामराज का बयान सामने आया था. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, हितेशा का वीडियो वायरल होने के बाद उसे जोमेटो ने निलंबित कर दिया था. कामराज ने महिला द्वारा लगाए गए आरोपों का खंडन किया. उसने आरोप लगाया कि हितेशा ने मुझे गालियां दीं और चप्पल से मारा. कामराज का कहना है कि अपार्टमेंट के दरवाजे पर पहुंचने के बाद, मैंने उसे खाना दिया और पेमेंट के लिए इंतजार करने लगा. हितेशा ने कैश ऑन डिलीवरी का विकल्प चुना था. 

मैंने ट्रैफिक और खराब सड़कों के कारण डिलीवरी में देरी होने के कारण माफी भी मांगी. लेकिन वह शुरू से ही बहुत असभ्य थीं. उन्होंने मुझसे पूछा ‘तुम देर से क्यों आ रहे हो? ‘ मैंने सॉरी बोलते हुए उत्तर दिया और उन्हें बताया कि शहर में चल रहे सिविक कार्यों के कारण सड़क ब्लॉक थे और ट्रैफिक जाम भी थे. लेकिन वह जोर देकर कहती रहीं कि ऑर्डर को 45-50 मिनट के भीतर पहुंचाना होगा. 

कामराज ने कहा, मैं इस काम पर दो साल से अधिक समय से काम कर रहा हूं और यह पहली बार है जब मुझे इस तरह के अनुभव से गुजरना पड़ा है. कामराज का कहना है कि ग्राहक हितेशा ने भोजन लिया और फिर पेमेंट करने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि वे जोमेटो चैट समर्थन के साथ बात कर रही थीं. कामराज ने कहा, मैंने उसने निवेदन किया कि वह आदेश के लिए भुगतान करे. 

इस पर उन्होंने मुझे गुलाम कहा और फिर उसने चिल्लाना शुरू कर दिया कि तुम क्या कर सकते हो? इस बीच, जोमेटो समर्थन ने मुझे बताया कि उन्होंने उसके अनुरोध के आधार पर उसके आदेश को रद्द कर दिया है और मैंने उससे पूछा उन्होंने कहा कि खाना वापस करो, लेकिन उन्होंने सहयोग नहीं किया.

कामराज ने आगे कहा, इसके बाद मैंने फैसला किया कि अपार्टमेंट से निकल जाना बेहतर होगा. इस पॉइंट पर, जब मैं लिफ्ट की ओर चल रहा था, तो वह हिंदी में अपशब्दों का उपयोग करने लगीं. हितेशा ने अचानक मेरे ऊपर चप्पल फेंकी और मुझे मारने लगीं. मेरी सुरक्षा के लिए मैंने अपने हाथों को बचाव के लिए इस्तेमाल किया. 

खुद की रिंग से लगी चोट! 

कामराज ने कहा, जब वह मेरे हाथ को दूर धकेलने की कोशिश कर रही थीं, गलती से नाक पर अपनी अंगुली की अंगूठी से खुद को मार लिया, जिसके बाद खून बहने लगा. जो कोई भी उसका चेहरा देखेगा, वह समझ जाएगा कि यह मुक्का मारने से नहीं बना है. अपने इंस्टाग्राम वीडियो में हितेश रिंग पहने नजर आ रही हैं. 

कामराज का कहना है कि उसने लिफ्ट का इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं दी, इसलिए उसे सीढ़ियों से नीचे उतरना पड़ा. तब दिल्ली में जोमाटो सपोर्ट सिस्टम के व्यक्ति ने भी मेरा समर्थन किया और मुझे उस सहानुभूति की पेशकश की. कामराज का कहना है कि समस्या यह है कि मेरी बेगुनाही साबित करने के लिए कोई सीसीटीवी फुटेज नहीं है.

बुधवार को शाम लगभग 6.30 बजे, कामराज को इलेक्ट्रॉनिक सिटी फेज 1 पुलिस स्टेशन द्वारा बुलाया गया, जहां उससे दो घंटे तक पूछताछ की गई. डिलीवरी बॉय का कहना है कि पुलिस ने किसी भी तरह से मेरा अपमान नहीं किया, लेकिन अब मुझे अपनी गिरफ्तारी को रोकने के लिए कानूनी खर्च के लिए 25,000 रुपये खर्च करने होंगे. 



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top