News
भारत

अगरतला डीएम शैलेश यादव से उच्च स्तरीय समिति ने की पूछताछ, जानिए क्या कहा?

नई दिल्ली: त्रिपुरा के वेस्ट अगरतला डीएम (Tripura West Agartala DM) व कलेक्टर शैलेश कुमार यादव (Shailesh Yadav) के एक मैरिज हॉल में कोरोना की पाबंदियों के बीच शादी रुकवाने के मामले में कई मोड़ सामने आ रहे हैं.

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद डीएम ने अपने दुर्व्यवहार के लिए माफी मांग ली है, लेकिन विवाद लगातार बढ़ता जा रहा है. शुक्रवार को इस मामले में मुख्यमंत्री बिप्लब देव द्वारा बनाई गई उच्च-स्तरीय समिति द्वारा डीएम को बुलाया गया. 

यादव शुक्रवार को आईएएस अधिकारियों किरण गिट्टे और तनुश्री देबबर्मा की एक समिति के समक्ष उपस्थित हुए. दोनों जांच पूरी करने के बाद अपनी रिपोर्ट मुख्य सचिव को सौंपेंगे, जिसके बाद रिपोर्ट मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब को सौंप दी जाएगी. 

डीएम शैलेश यादव ने कहा, समिति ने मुझे आज (शुक्रवार) साक्ष्य देने के लिए बुलाया. मैं दोपहर 3 बजे यहां आया और अपना बयान व अन्य दस्तावेज जमा किए. धारा 144 के तहत लाए गए आदेश मैंने सौंपे. मुझे कुछ प्रश्न भी पूछे गए थे, जिनका मैंने उत्तर दिया है. उन्होंने आगे कहा कि वह समिति के साथ पूरी तरह से सहयोग करेंगे. डीएम ने कहा, यह मेरा कर्तव्य है कि मैं कानून लागू करूं और COVID-19 के निवारक प्रसार के लिए आदेश बनाए रखूं. यादव ने कहा कि मैंने उस रात जो किया और जो कुछ भी किया, मैं उसके साथ खड़ा हूं.

दर्ज हुई एफआईआर 

इस मामले में दुल्हन के परिवार वालों ने एफआईआर दर्ज करा दी है. वहीं, दूसरी ओर डीएम की ओर से भी दुल्हन पक्ष के खिलाफ एफआईआर की गई है. दुल्हन के भाई सुब्रजीत देब ने फेसबुक पोस्ट के जरिए घटना की विस्तार से जानकारी दी. 

सुब्रजीत ने लिखा, 29 अप्रैल को सुबह 8 बजे मुझे स्थानीय समाचार पत्र से खबर मिली कि 28/04/2021 को डी.एम. शैलेश यादव जी ने हमारे खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. हमने अपने राज्य के शीर्ष वकीलों में से एक से परामर्श किया है और सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत हमारी प्राथमिकी स्वीकार करने के लिए पुलिस अधीक्षक अगरतला को एक प्रार्थना पत्र लिखा है. फिर से खारिज होने और परेशान होने के डर से (जैसा कि एफआईआर दर्ज करते समय हुआ) मैंने आज शाम को रजिस्टर्ड पोस्ट के जरिए प्रार्थना भेजी है. 

दुल्हन के भाई ने कहा, मेरे वकील से सलाह लेने के बाद बाकी कानूनी कार्यवाही को अपडेट किया जाएगा. सुब्रजीत ने अंत में कहा, मैं और मेरा पूरा परिवार कृतज्ञ हैं पूरे राज्य और जिस तरह से देश ने आगे आकर हमारा समर्थन किया. अगर आप महसूस करते हैं कि हम गलत नहीं थे, तो मैं सभी से समर्थन करने की प्रार्थना करता हूं.

इसके साथ ही सुब्रजीत ने अपील करते हुए कहा, मेरे माता-पिता बुजुर्ग पोस्ट एंजियोप्लास्टी हाइपरटेन्सिव, डायबिटिक हैं और कई दवाओं पर हैं. मानसिक आघात के बाद उनके स्वास्थ्य में सुधार आ रहा है. इसलिए कोई भी मीडियाकर्मी या शुभचिंतक मुझसे या मेरे माता पिता से संपर्क करने की कोशिश न करें. उम्मीद है हमें न्याय मिलेगा. 



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *