Close

Guruwar Ke Upay: साल 2021 के पहले गुरुवार को जरूर करें ये सरल उपाय, लक्ष्मी-नारायण की कृपा से हो जाएंगे धनवान

News

Guruwar ke Upay: ऐसे तो सनातन धर्म में हर दिन का अपना-अपना महत्व है लेकिन आज साल 2021 का पहला गुरुवार है. गुरुवार को बृहस्पतिवार भी कहा जाता है. गुरु (Guru) से गुरुवार (Guruwar) बना है और गुरु एक महत्वपूर्ण ग्रह है. इतना ही नहीं बृहस्पति  को देवताओं का गुरु भी कहा जाता है. धार्मिक मान्यता के मुताबिक गुरुवार को विष्णु भगवान (Vishnu Bhagwan)  का दिन माना जाता है. 

इस दिन भगवान विष्णु की विशेष रूप से पूजा-अर्चना की जाती है. भगवान विष्णु को जगत का पालन हार भी कहा जाता है.  विष्णु भगवान के आशीर्वाद से सभी तरह की परेशानियों से छुटकारा मिल जाता है. 

हिंदू शास्त्रों में बृहस्पतिवार को धन और समृद्धि के लिए खासतौर पर माना जाता है. भगवान विष्णु  की आराधना के लिए बृहस्पतिवार  का दिन सर्वोत्तम माना गया है. मान्यता के मुताबिक गुरुवार को भगवान विष्णु की विधिवत पूजा करने से मनुष्य का जीवन सुखों से भर जाता है. गुरुवार  को लक्ष्मी-नारायण  दोनों की एक साथ पूजा करने से जीवन में खुशियां आती है और पति-पत्नी के बीच कभी दूरियां नहीं आतीं. साथ ही धन में भी वृद्ध‍ि होती है.

भाग्य साथ नहीं दे रहा है या कोई भी समस्या चल रही है तो गुरुवार के दिन कुछ आसान उपाय करने से आपकी किस्मत बदल सकती है. धर्मिक ग्रंथों में बृहस्पति देव (Brihaspati Dev) की आराधना के कई तरीकों बताए गए हैं. जिन्हें करने से आपकी कुंडली का बृहस्पति (Brihaspati) मजबूत होगा और आपके सारे बिगड़े काम बन जाएंगे. 

गुरुवार को केसर, पीला चंदन या फिर हल्दी का दान करना बहुत शुभ माना गया है. ऐसा करने से गुरु मजबूत होता है, जिससे आरोग्य और सुख की वृद्धि होती है. साथ ही घर में सुख-शांति का वास होता है. अगर आप इनका दान नहीं कर पाते हैं तो कोई बात नहीं इन्हें तिलक के रूप में लगाने से भी लाभ मिलता है इस दिन अगर आप कुछ उपाय करते हैं तो आपको जीवन में किसी भी प्रकार की समस्या की नहीं होगी. 

बृहस्पति देव के मंत्र (Guruwar Mantra)

ॐ बृं बृहस्पतये नम:.

ॐ क्लीं बृहस्पतये नम:.

ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम:.

ॐ ऐं श्रीं बृहस्पतये नम:.

ॐ गुं गुरवे नम:.

गुरुवार के उपाय (Guruwar ke Upay)

– ब्रम्ह मुहूर्त में उठकर स्नान करें.

– स्नान के समय ‘ॐ बृ बृहस्पते नमः’ का जाप भी करें.

– गुरु के भी प्रकार के दोष को दूर करने के लिए आप गुरुवार के दिन नहाने के पानी में चुटकी भर हल्दी डालकर स्नान करें. 

– इसके साथ ही साथ नहाते वक्त “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय” मंत्र का जाप जरूर जाप करें.

– गुरुवार का व्रत रखें और केले के पौधे में जल अर्पित कर पूजा अर्चना करें. ऐसा करने से विवाह में आने वाली रुकावटों का समाधान होता है और अगर आप विवाहित हैं तो आपके वैवाहिक जीवन में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं आती.



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top