मेरठ, 18 अप्रैल (एजेंसी)

उत्तर प्रदेश के मेरठ में छावनी क्षेत्र के निवासी ग्रेगरी रेमंड राफेल के जुड़वां बेटे जोफ्रेड वर्गीज ग्रेगरी और राल्फ्रेड जॉर्ज ग्रेगरी की महज 24 साल की उम्र में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण कुछ ही घंटों के अंतराल पर मौत हो गई. परिजनों के अनुसार जोफ्रेड की 13 मई को मौत हुई. इसके कुछ घंटों बाद 14 मई को राल्फ्रेड जॉर्ज ग्रेगरी ने भी उपचार के दौरान दम तोड़ दिया. पेशे से शिक्षक ग्रेगरी राफेल और उनकी पत्नी सोजा ग्रेगरी का परिवार दोनों बेटों की मौत होने से एक झटके में बिखर गया. ग्रेगरी रेमंड राफेल बताते हैं, ‘हमने बहुत संघर्ष किया है, वे हमें एक बेहतर जिंदगी देना चाहते थे. दोनों हैदराबाद से कोरिया और फिर जर्मनी जाने की योजना बना रहे थे. पता नहीं भगवान ने हमें यह सजा क्यों दी.’ ग्रेगरी राफेल के अनुसार बीती 23 अप्रैल को दोनों भाइयों ने 24वां जन्मदिन मनाया था. उन्होंने बताया कि दोनों ने एक साथ ही दुनिया में कदम रखा था. दोनों ने कंप्यूटर इंजीनियरिंग भी साथ की और हैदराबाद में नौकरी भी एक साथ की. पता नहीं था कि दोनों एक साथ बीमार होंगे और एक साथ ही इस दुनिया से विदा भी होंगे.’ ग्रेगरी राफेल के अनुसार बीती 24 अप्रैल को दोनों बेटों की तबीयत खराब हुई. शुरू में उनका घर पर इलाज किया लेकिन बुखार कम नहीं हुआ. उन्हें एक मई को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनकी पहली जांच रिपोर्ट में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई थी लेकिन कुछ दिनों बाद उनकी दूसरी आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट में संक्रमण नहीं होने का पता चला था. लेकिन उनके फेफड़ों में संक्रमण फैल चुका था. उन्होंने कहा कि जुड़वां बेटे एक दिन अचानक इस तरह साथ छोड़ देंगे, यह कल्पना भी नहीं की थी. राफेल कहते हैं, ‘ईश्वर ऐसा दिन कभी किसी दुश्मन को भी न दिखाए.’


दैनिक ट्रिब्यून से फीड
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

महिला अपराध: गैंगरेप के मामले में राजस्थान के बाद हरियाणा दूसरे स्थान पर

प्रमोद रिसालिया, चंडीगढ़ नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के “क्राइम इन इंडिया” रिपोर्ट…