Close

Gold Price Today: साल के आखिरी दिन सोना-चांदी खरीदारों को झटका, जानिए कितने चढ़े दाम

News

नई दिल्लीः साल 2020 कोरोना वायरस महामारी से घिरा रहा है, जिसके चलते भारतीय सर्राफा बाजार में सोना-चांदी के दामों में भी काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिला. साल के आखिरी दिन दिल्ली में गुरुवार को भी सोना-चांदी की कीमत में बढ़ोतरी देखने को मिली, जिसके चलते ग्राहकों के चेहरे पर मायूसी छाई रही. सोने का भाव 235 रुपये बढ़कर 49,675 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया, जबकि पीली धातु पिछले कारोबारी दिन 49,440 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुई थी.

– जानिए चांदी का भाव

चांदी की बात करें, तो पिछले कारोबारी सत्र के 67,710 रुपये प्रति किलोग्राम के मुकाबले आज चांदी का भाव 273 रुपये बढ़कर 67,983 रुपये प्रति किलोग्राम हो गया. अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना और चांदी क्रमश: 1,894 अमेरिकी डॉलर प्रति औंस और 26.52 अमेरिकी डॉलर प्रति औंस के स्तर पर था. जनवरी 2011 से लेकर दिसंबर 2020 तक के आंकड़े देखें तो सोना रिटर्न के मामले में सेंसेक्स और चांदी दोनों पर भारी पड़ा है. 

सोने ने इस दशक में 151 फीसदी का रिटर्न दिया है. सोने ने 2011 में तो अच्छी बढ़त ली, लेकिन इसके बाद जनवरी 2012 से लेकर जून 2017 तक यह 28,000 के आसपास रहा. यानी साढ़े पांच साल तक इसने कोई रिटर्न नहीं दिया. सोने में दोबारा तेजी दिसंबर 2019 से आना शुरू हुई और इसने नया ऐतिहासिक स्तर बना लिया.

वहीं, निवेशक सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना के तहत बाजार मूल्य से काफी कम दाम में सोना खरीद सकते हैं. यह योजना सिर्फ पांच दिन के लिए खुली है और एक जनवरी 2021 इसका आखिरी दिन है. इसलिए अगर आप इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो देर ना करें. इसकी बिक्री पर होने वाले लाभ पर आयकर नियमों के तहत छूट के साथ और कई लाभ मिलेंगे.

दूसरी ओर योजना के तहत निवेश करने की अवधि 28 दिसंबर 2020 से शुरू हो गई है और एक जनवरी 2021 को इसका आखिरी दिन है. सरकार की ओर से योजना में निवेश के लिए पांच दिन तक का समय दिया गया है. सरकार की ओर से गोल्ड बॉन्ड में निवेश के लिए यह वित्त वर्ष 2020-21 की नौवीं श्रृंखला है. पहली श्रृंखला 20 अप्रैल 2020 से शुरू होकर 24 अप्रैल 2020 को समाप्त हुई थी. 



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top