Close

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेन्द्र फडणवीस का दावा, सचिन वाजे के लिए मेरे सीएम रहते भी शिवसेना से दवाब आया

News

इंद्रजीत सिंह, मुंबई: एंटीलिया केस गर्माता जा रहा है. सचिन वाजे की गिरफ्तारी होने और षड़यंत्र में लिप्त होने की पुष्टि होते ही मुंबई पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह का तबादला कर दिया गया है. अब परमवीर सिंह की जगह हेमंत नागराले को पुलिस कमिश्नर की जिम्मेदारी दी गई है. इस मामले पर विपक्ष ने महाराष्ट्र सरकार को जमकर घेरा है. 

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेन्द्र फडणवीस का कहना है कि मुंबई के इतिहास में ऐसा काम कभी नहीं हुआ, जब पुलिस खुद अपराधी बन जाए तो सुरक्षा कौन करेगा. ये सबसे बड़ा सवाल है. 

फडणवीस ने सवाल उठाया, वाजे को नौकरी किसने दी? 2007 में वीआरएस लेने के बाद कैसे सेवा में आ गए. उन्होंने यहां तक कहा, मेरे सीएम रहते भी शिवसेना से दवाब आया था. मैंने जांच के बाद नहीं लेने का फैसला लिया था. 2008 से शिवसेना के प्रवक्ता के तौर पर भी काम किया. अंत में शिवसेना की सरकार बनते ही सचिन वाजे को वापस लाया गया. कोविड का बहाना  वसई विरार में इनपर रंगदारी का मामला आया. 

मुंबई का सबसे महत्वपूर्ण पद क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट का हेड दिया गया. मुम्बई का सभी हाई प्रोफाइल केस सीआईओ के पास आता था. ऋतिक रोशन, बादशाह रैपर वाला केस भी इन्हीं के पास आया. 

वाजे वसूली अधिकारी के रूप में बैठाए गए थे. डांस बार चलाने की छूट से लेकर सभी काम वाजे के पास रहते थे. फडणवीस ने कहा, परमवीर सिंह-सचिन वाजे बहुत छोटे लोग हैं. असल वजह कहीं और है. सचिन वाजे को ऑपरेट करने वाले लोग सरकार में बैठे है. उनकी जांच होनी चाहिए.



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top