बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनोट के खिलाफ आप की नेत्री जीवनजोत कौर ने दायर किया मानहानि का केस

News

अमृतसर: महिंदर कौर पर अपमानजनक टिप्पणी के लिए बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनोट के खिलाफ दायर किए गए मानहानि केस में मंगलवार को अमृतसर कोर्ट में सुनवाई हुई. यह मुकदमा आम आदमी पार्टी की नेत्री जीवनजोत कौर दायर किया है. जीवनजोत कौर के वकील परमिंदर सेठी ने अदालत के सामने कंगना रनोट के सारे अपमानजनक बयानों को बताया और कोर्ट से अभिनेत्री पर कार्रवाई करने की अपील की. उनकी बातों को सुनने के बाद अदालत ने इस मामले पर आगे की सुनवाई के लिए 19 मई की तारीख मुकर्रर किया है. 

कंगना पर मानहानि का मुकदमा आम आदमी पार्टी द्वारा किसान आंदोलन को बदनाम करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मुहिम का एक हिस्सा है. कंगना रनौत ने बठिंडा जिले की माता महिंदर कौर जो किसान आंदोलन में भाग ले रही थीं, सोशल मीडिया पर उनकी फोटो पोस्ट कर उनके खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की थी. उस टिप्पणी ने लाखों लोगों, महिलाओं और किसानों को आहत किया था. उसके बाद आम आदमी पार्टी ने किसानों के खिलाफ टिप्पणी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए एक अभियान चलाया और अपमानजनक टिप्पणी करने वालों के खिलाप मानहानि के मुकदमें दायर किया.

जीवनजोत कौर ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी पहले ही दिन से किसानों के साथ खड़ी हैं. केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की कैप्टन सरकार किसानों के साथ अमानवीय व्यवहार कर रही है. बीजेपी के नेता और केंद्रीय मंत्री किसानों को आतंकवादी, अलगाववादी और खालिस्तानी बोलकर किसानों को बदनाम करने की कोशिश कर रहे थे. 

वहीं केंद्र सरकार की मिलीभगत से कंगना रनोट ने हमारी माताओं-बहनों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की जिससे हमें ठेस पहुंची. फिर हमने कंगना के खिलाफ मुकदमा करने का फैसला किया. इस ऐतिहासिक किसान संघर्ष में हमारे पंजाब की माताओं और बहनों किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर लड़ रही हैं. वे जानती हैं कि कठिन समस्या से कैसे लड़ना है. बीजेपी नेताओं की बयानबाजी या कंगना की अपमानजनक टिप्पणी उनके इरादे को डगमगा नहीं सकती. 

उन्होंने कहा कि कंगना रनोट को माता महिंदर कौर के खिलाफ दिए गए अपमानजनक बयान के लिए माफी मांगने के लिए मजबूर होना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि एक तरफ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बुढ़ापे के बावजूद किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए महिला दिवस के मौके पर माता मोहिंदर कौर को सम्मानित कर रही है. वहीं दूसरी ओर बीजेपी की केंद्र सरकार और उनके नेता हमारी बुजुर्ग माताओं का अपमान कर रहे हैं.



न्यूज़24 हिन्दी