News
भारत

कुंभ पर कोरोना का कहर, निर्वाणी अखाड़ा के महामंडलेश्वर की संक्रमण से मौत

नई दिल्ली: हरिद्वार में चल रहे कुंभ मेले पर कोरोना कहर बढ़ता जा रहा है. खबर आई है कि इस मेले में मध्यप्रदेश से आए निर्वाणी अखाड़ा के महामंडलेश्वर कपिल देव की कोरोना से मौत हो गई. जानकारी के मुताबिक महामंडलेश्वर के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उन्हें देहरादून के कैलाश हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, जहां उनका निधन हो गया. माना जा रहा है कि महाकुंभ मेले में ये किसी संत की पहली मौत है.

खबरों की मानें तो हरिद्वार के मेला क्षेत्र में बीते 72 घंटे में 1,500 से भी ज्यादा कोविड-19 पॉजिटिव केस दर्ज किए गए हैं. लेकिन जानकारों के मुताबिक टेस्ट की संख्या बढ़ाते ही संक्रमितों की संख्या में भयावह बढ़ोतरी हो सकती है.

बता दें कि इससे पहले अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि भी 12 अप्रैल को होने वाले शाही स्नान से पहले कोरोना पॉजिटिव निकले थे. महंत नरेंद्र गिरि को दो दिन से बुखार की शिकायत थी, जिसके इलाज के लिए उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था. वहीं, कोरोना जांच के लिए उनका सैंपल लिया गया था. लेकिन चौंकाने वाली बात ये है कि रिपोर्ट आने से पहले ही उन्हें रविवार सुबह अस्पताल से छुट्टी दे दी गई.

जैसे ही रविवार दोपहर को महंत नरेंद्र गिरी के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर सामने आई, हड़कंप मच गया. क्योंकि रिपोर्ट आने तक महंत कई साधु-संतों के साथ उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से नजदीक से मुलाकात कर चुके थे. जबकि बुखार आने से पहले उन्होंने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से मुलाकात की थी.


आप को बता दें कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बावजूद उत्तराखंड सरकार ने हरिद्वार कुंभ मेले की अवधि को घटाने से इनकार कर दिया है. सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया कि मेला अवधि घटाने पर अभी कोई विचार नहीं है, न ही ऐसा कोई प्रस्ताव राज्य सरकार ने केंद्र को भेजा है, कुंभ 30 अप्रैल अपनी समय सीमा पर ही समाप्त होगा.

जबकि इससे पहले उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बयान जारी कर कहा था कि मां गंगा के आशीर्वाद से यहां कोरोना नहीं फैलेगा. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि कुंभ की तुलना मरकज ने नहीं की जा सकती. मरकज से जो कोरोना फैला वो इसलिए कि वो बंद कमरे में थे. लेकिन कुंभ खुले में है इसलिए कोरोना नहीं फैलेगा. रावत ने दावा किया कि माँ गंगा की अविरल धारा है, माँ गंगा का आशीर्वाद लेकर जाएंगे तो कोरोना नहीं फैलेगा.



न्यूज़24 हिन्दी

You might also like