Close

तेजी से फैल रहा कोरोना अगले 4 हफ्ते अहम

तेजी से फैल रहा कोरोना अगले 4 हफ्ते अहम


नयी दिल्ली, 6 अप्रैल (एजेंसी)

भारत में एक दिन में कोविड-19 के 96,982 नये मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या 1,26,86,049 हो गई. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में 446 और मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,65,547 हो गई. भारत में सोमवार को अभी तक के सर्वाधिक 1,03,558 नए मामले सामने आये थे. केन्द्र सरकार ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 बहुत तेज गति से फैल रहा है एवं महामारी की तीव्रता भी बढ़ी है तथा इसे देखते हुए अगले 4 सप्ताह बेहद अहम रहने वाले हैं. सरकार ने संक्रमण की दूसरी लहर को काबू में करने के लिए जनभागीदारी पर जोर दिया. नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वी के पॉल ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मामले तेजी से बढ़ने से देश में महामारी के हालत और खराब हुए हैं और आबादी का एक बड़ा हिस्सा संक्रमण के प्रति संवेदनशील है. उन्होंने कहा कि महामारी से लड़ने के हथियार वही हैं. कोविड-19 से बचाव के नियमों का पालन करना, निरुद्ध क्षेत्रों की पहचान, जांच आदि को और प्रभावी तरीके से लागू किया जाना चाहिए, चिकित्सा ढांचे में सुधार और टीकाकरण अभियान तेजी से चलाए जाने की जरूरत है.

देश में महामारी के हालत पर विस्तार से चर्चा करते हुए केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि छत्तीसगढ़ का दुर्ग जिला उपचाराधीन मामलों में शीर्ष 10 जिलों में शामिल है. उन्होंने कहा कि जिन 10 जिलों में सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं वे हैं पुणे, मुंबई, ठाणे, नागपुर, नासिक, बेंगलुरु शहर, औरंगाबाद, अहमदनगर, दिल्ली और दुर्ग. भूषण ने बताया कि केन्द्र ने 50 उच्चस्तरीय जन स्वास्थ्य टीमें गठित की हैं और उन्हें महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और पंजाब में ज्यादा मामले सामने आने वाले और संक्रमण से ज्यादा मौतों वाले जिलों में तैनात किया गया है.

गुजरात हाईकोर्ट ने 3-4 दिन लॉकडाउन का दिया सुझाव : गुजरात उच्च न्यायालय ने मंगलवार को कहा कि राज्य में कोविड​​-19 के कारण स्थिति नियंत्रण से बाहर हो रही है. इसके साथ ही अदालत ने सुझाव दिया कि वायरस से संक्रमण की शृंंखला को तोड़ने के लिए तीन से चार दिनों के लिए कर्फ्यू या लॉकडाउन लागू किया जा सकता है.

अदालत कोराना वायरस की स्थिति पर स्वत संज्ञान लेते हुए एक याचिका पर सुनवाई कर रही थी. मुख्य न्यायाधीश विक्रम नाथ और न्यायमूर्ति भार्गव करिया की पीठ ने कहा कि वायरस पर काबू के लिए ऐसे लॉकडाउन या कर्फ्यू की जरूरत है. मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि कोविड-19 स्थिति बद से बदतर और नियंत्रण से बाहर हो रही है. गुजरात में सोमवार को कोविड के 3,000 से अधिक नए मामले सामने आए. उन्होंने सुझाव दिया कि राजनीतिक कार्यक्रमों सहित सभी प्रकार के जमावड़ों को नियंत्रित या बंद किया जाना चाहिए. महाधिवक्ता कमल त्रिवेदी ने पीठ को सूचित किया कि लॉकडाउन के बारे में सरकार जटिल स्थिति में है.

एक दिन में 43 लाख से अधिक लोगों को टीका : देश में पिछले 24 घंटों में 43 लाख से अधिक लोगों को कोविड-19 रोधी टीका लगाया गया जो अब तक एक दिन में दी गई खुराकों के लिहाज से सर्वाधिक है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार तक के आंकड़ों के मुताबिक अब तक टीकों की कुल 8,31,10,926 खुराक दी जा चुकी हैं. मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक टीकाकरण अभियान के 80वें दिन टीके की कुल 43,00,966 खुराकें दी गईं जिनमें से 39,00,505 लाभार्थियों को पहली खुराक जबकि 4,00,461 लाभार्थियों को दूसरी खुराक दी गई. मंत्रालय ने कहा, यह देश में अब तक एक दिन में दिए गए टीकों के लिहाज से सर्वाधिक है.’

घर जाने के लिए मारामारी … पटना में मंगलवार को कोरोना महामारी के बीच ट्रेन में सवार होने के लिए जद्दोजहद करते लोग. -एजेंसी

45 से ऊपर के सभी कर्मियों को टीका लगवाने के आदेश

नयी दिल्ली : कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को प्रभावी तरीके से रोकने के उद्देश्य से केंद्र सरकार ने 45 साल और इससे अधिक उम्र के अपने सभी कर्मचारियों को कोविड-रोधी टीका लगवाने के लिये कहा है. कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि कर्मचारियों को टीकाकरण के बाद भी कोविड-19 से बचाव के दिशा निर्देशों का पालन करने का सुझाव दिया गया है, जिसमें लगातार हाथ धोना, सेनेटाइजेशन, मास्क या फेस कवर पहनना और सामाजिक दूरी शामिल हैं. इसमें कहा गया है कि सरकार स्थिति की गहरी निगरानी कर रही है और कोविड-19 के प्रसार की रोकथाम के दृष्टिगत टीकाकरण के लिए समूहों को प्राथमिकता देने के वास्ते अपनाई गई रणनीति के आधार पर 45 साल या उससे अधिक उम्र के सभी व्यक्ति टीकाकरण अभियान में हिस्सा ले सकते हैं.

दिल्ली में 30 तक रात का कर्फ्यू

नयी दिल्ली (एजेंसी) : दिल्ली सरकार ने राजधानी में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए 30 अप्रैल तक रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक का रात्रि कर्फ्यू लगा दिया है. दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राजधानी में सोमवार को कोविड-19 के 3,548 नये मामले सामने आये जबकि 15 और लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण से मृत्यु हो जाने के बाद मरने वालों की संख्या बढ़ कर 11,096 पर पहुंच गयी. सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि रात्रि कर्फ्यू का आदेश 30 अप्रैल तक प्रभाव में रहेगा. उन्होंने बताया कि कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक रहेगा.

सीरम जैसा बड़ा टीका निर्माता भारत के लिए सौभाग्य की बात

वाशिंगटन : विश्व बैंक के अध्यक्ष डेविड मालपास ने कहा कि भारत सौभाग्यशाली है कि उसके पास सीरम इंस्टीट्यूट जैसा वैश्विक टीकों का एक बड़ा निर्माता है और कहा कि वह घरेलू टीकाकरण कार्यक्रम में तेजी लाने के देश के प्रयासों से प्रोत्साहित होते हैं. मालपास ने ये टिप्पणियां अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) और विश्व बैंक की आगामी बैठक से पहले मीडिया से चर्चा के दौरान सोमवार को की. उन्होंने कहा, ‘मेरा सीरम इंस्टीट्यूट के साथ काफी संपर्क रहा है. भारत का सौभाग्य है कि देश में वैश्विक टीकों का एक बड़ा निर्माता है.’ एक प्रश्न के जवाब में, मालपास ने कहा कि उन्होंने स्थानीय निर्माण के लिए राष्ट्रीय जरूरतों और विश्व भर में अन्य देशों को पहुंचाई जाने वाली सहायता के लिहाज से अधिक पारदर्शिता को बढ़ावा दिया है.



दैनिक ट्रिब्यून से फीड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top