Close

किसानों के समर्थन में कांग्रेस सेवादल की ट्रेक्टर रैली, तो एनएसयूआई ने निकाली तिरंगा यात्रा

News

केजे श्रीवत्सन,जयपुर: राजस्थान कांग्रेस के लिए सोमवार का दिन किसानों की 26 जनवरी को निकाली जाने वाली ट्रेक्टर यात्रा के समर्थन के नाम रहा. सेवादल ने एक ट्रैक्टर रैली निकाली और उसे दिल्ली की लिए रवाना किया. जयपुर सी स्कीम इलाके में स्थित सेवादल के प्रदेश कार्यालय से यह ट्रेक्टर रेली शुरू हुई.

ख़ास बात यह है की राजस्थान के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास खुद ट्रैक्टर चला कर प्रदर्शनकारियों की आगुवाई कर रहे थे, जबकि मुख्य सचेतक महेश जोशी उसके पास ही ट्रैक्टर में सवार थे. मंत्री जी के ट्रैक्टर के पीछे चल रहे ट्रैक्टर में महिला और पुरुष किसानों के साथ दिल्ली में रुकने के दौरान जरूरी बिस्तार और दूसरे चीजे भी थी.

कांग्रेस सरकार के परिवहन मंत्री और मुख्य सचेतक ने किसानों के आन्दोलन को पूरा सम्ह्योग और साथ देने की बता कही और कहा की अब केंद्र सरकार को भी अपनी जिद्द छोड़कर तीनों कृषि बिल को वापस ले लेना चाहिए. उन्होंने किसानों को आतंकवादी करार दिए जाने की कोशिश को भी अनुचित बताया और कहा की इस बार किसानों की बात सरकार को सुननी ही पड़ेगी.

राज्य मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा केंद्र सरकार झूठ बोल रही है की ये किसान आतंकवादी है और तनाव फैलाना चाहते हैं. कितना गिरेगी मोदी सरकार, उसे यह कानून वापस लेना ही पड़ेगा. वहीं, दूसरी ओर राजस्थान विश्वविध्यालय से जयपुर के विधानसभा के पास स्थित अमर जवान ज्योति तक कांग्रेस के छात्र संघटन एनएसयुआई ने तिरंगा यात्रा निकाली. इस संघटन के कार्यकर्ता 100 मीटर लंबा झंडा लेकर सड़कों पर चल रहे थे और जय जवान-जवान जय किसान का नारा भी लगा रहे थे.

वैसे जहाँ दिल्ली में अपनी रेली को किसान ऐतिहासिक बनाने की कोशिश में जुटे हैं. वहीं, कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता भी उनके इस आंदोलन के साथ अब खुलकर खड़े नज़र आने लगे हैं. शायद यही कारन है की जगह जगह किसानों के समर्थन में प्रदर्शन के साथ-साथ ऐआईसीसी द्वारा जारी “खेती का खून है” बुकलेट को जारी करने के साथ साथ राजस्थान में किसानों के लिए किये जा रहे प्रयासों और तीन केंद्रीय कृषि कानून के खिलाफ अशोक गहलोत सरकार द्वारा पारित संशोधन कानून की जानकारी वाला बुकलेट भी जारी करके साफ संकेत दिया गया की आने वाले दिनों में किसानों के आन्दोलन के समर्थन में कई और बड़े विरोध प्रदर्शन का भी आयोजन किया जाएगा.



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top