Close

मुख्यमंत्री की किसान महापंचायत रैली आज, प्रशासन व किसान नेताओं ने जताई सहमति – टीएनआर

मुख्यमंत्री की किसान महापंचायत रैली आज, प्रशासन व किसान नेताओं ने जताई सहमति - चौपाल TV


टीएनआर, करनाल

आज मुख्यमंत्री मनोहर करनाल के कैमला गांव में किसान महापंचायत रैली करेंगे. जिसको लेकर जिले के किसान नेताओं व जिला प्रशासन के साथ अहम बैठक हुई. बैठक के बाद जिला उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने बताया कि मुख्यमंत्री कैमला में रविवार सुबह 11 बजे किसान पंचायत रैली को संबोधित करेंगे, जिसकी सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम करेंगे. वहीं किसान नेताओं ने कहा कि हजारों की संख्या में किसान सुबह 8 बजे बसताड़ा टोल प्लाजा पर पहुंचकर मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का जोरदार तरीके से विरोध करेंगे.

कृषि कानून के विरोध में जहां दिल्ली सीमा पर हजारों किसान आंदोलन छेड़े हुए हैं. वहीं हरियाणा में भी कई जिलों में किसान पिछले कई दिनों से टोल प्लाजा पर धरना प्रदर्शन करके अपना विरोध जता रहे हैं. हरियाणा के कई जिलों में भाजपा व जजपा नेताओं के गांवों में प्रवेश नहीं होने के बैनर भी ग्रामीणों द्वारा लगा गए हैं.

इसी बीच करनाल के कैमला गांव में रविवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल की होने वाली किसान महापंचायत रैली का किसान विरोध कर रहे हैं. रैली को लेकर सुरक्षा के मध्यनजर प्रशासन भी पूरी तरह से अलर्ट है. इसको लेकर शनिवार को जिला सचिवालय में किसान नेताओं व डीसी, एसपी से किसानों की बैठक हुई.

बैठक के बाद जिला प्रशासन व किसानों ने अपना-अपना तर्क मीडिया के सामने रखा. जिला उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने कहा कैमला गांव में होने वाले मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में किसानों द्वारा किसी भी तरह की बाधा नहीं पहुंचाई जाए, इसलिए किसान नेताओं से वार्तालाप की है.

किसानों को कहा गया है कि किसान लोकतांत्रिक तरीके से अपना प्रदर्शन करें. अगर कोई भी मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में बाधा डालेगा उससे सख्ती से निपटा जाएगा. वहीं किसान नेताओं ने आश्वासन दिया है कि अगर किसी भी तरह का विरोध करना होगा तो शांतिपूर्ण तरीके से निर्धारित स्थान पर अपना विरोध करेंगे. सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस बल गांव कैमला में पूरी तरह से तैनात किया गया है.

आपको बता दें कि इस अवसर पर वे विभिन्न उदघाटन एवं शिलान्यास करके जिले के लोगों को 4717 लाख रुपये के विकास कार्यों की सौगात भी देंगे. इस दौरान मुख्यमंत्री कृषि कानूनों के बारे में लोगों से सीधा संवाद भी करेंगे. करनाल जिले के घरौंडा विधानसभा क्षेत्र के 2259 लाख 45 हजार रुपये के विकास कार्यों, नगर निगम करनाल के 336 लाख 80 हजार रुपये की लागत के विकास कार्यों तथा स्मार्ट सिटी प्रोजैक्ट के तहत 2121 लाख रुपये की 5 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल हैं.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल घरौंडा विधानसभा की 2259 लाख 45 हजार रुपये के लागत  वाले तीन विकास कार्यों का उदघाटन करेंगे. घरौंडा विधानसभा क्षेत्र के लोगों की बस अड्डा के निर्माण की मांग वर्षों पुरानी थी, जिस पर मुख्यमंत्री ने न केवल अपनी सहमति दी बल्कि इस मांग को पूरा करने के लिए 216 लाख 53 हजार रुपये  की राशि की स्वीकृति प्रदान की, अब यह कार्य पूरा हो चुका है.

इसी प्रकार गांव बरसत में पीएचसी भवन तथा अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए रिहायशी मकान बनाने की घोषणा भी मुख्यमंत्री द्वारा की गई थी जिस पर अनुमानित 521 लाख 96 हजार रुपये की राशि खर्च हुई है, यह कार्य भी पूरा हो चुका है. इसी प्रकार घरौंडा शहर में आरयूबी बनाने की मांग भी काफी लंबे समय से चली आ रही थी . इसको मांग को भी मुख्यमंत्री ने पूरा किया है . आरयूबी के निर्माण पर 1132 लाख 94 हजार रुपये की राशि खर्च हुई है. इसके अलावा, गांव मिरगैन में करीब 388 लाख रुपये की लागत से बनने वाले पीएचसी भवन व रिहायशी मकान बनाने के कार्य का भी शिलान्यास करेंगे.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल नगर निगम,करनाल की 6 परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे, जिन पर अनुमानित 336 लाख 86 हजार रुपये की राशि खर्च होगी. इनमें मोती नगर वार्ड नम्बर 7 की सडक़ पर 51 लाख 17 हजार रुपये की लागत से सैंट्रल वर्ज , गांव सिरसी में 62 लाख 24 हजार रुपये की लागत से सामुदायिक केन्द्र, कैथल रोड पर 47 लाख 16 हजार रुपये की लागत से गुरु नानक द्वार, काछवा रोड पर 48 लाख 91 हजार रुपये की लागत से स्वामी विवेकानंद द्वार, कुंजपुरा रोड पर 49 लाख 32 हजार रुपये की लागत से मां सरस्वती द्वार तथा वार्ड नम्बर 11 बाल भवन में 80 लाख रुपये की लागत से डे केयर सैंटर के हॉल का निर्माण कार्य शामिल हैं.

मुख्यमंत्री स्मार्ट सिटी प्रोजैक्ट के तहत 2121 लाख रुपये की 5 परियोजनाओं का भी शिलान्यास करेंगे. इनमें 603 लाख रुपये की लागत से 74 पार्कों में ओपन एयर जिम और मेडिटेशन क्षेत्र कार्य, 250 लाख रुपये की लागत से कल्चरल कॉरिडोर, 570 लाख रुपये की लागत से स्मार्ट सिटी मिशन के तहत टाईलों से सुसज्जित फुटपाथ, 395 लाख रुपये की लागत से सडक़ों पर कन्क्रीट से निर्मित ओवरले तथा 303 लाख रुपये पुलों के सौंदर्यीकरण पर खर्च होंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top