News
भारत

पश्चिम बंगाल में नतीजों के बाद भड़की हिंसा पर बीजेपी की तीखी प्रतिक्रिया, पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने की प्रभावितों से मुलाकात

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल के अलग-अलग हिस्सों में विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद हिंसा और आगजनी जारी है. भारतीय जनता पार्टी का आरोप है कि पश्चिम बंगाल में ये हिंसा विधानसभा चुनाव में विजयी हुई तृणमूल कांग्रेस (TMC) के संरक्षण में भड़काई जा रही है.

हिंसा से प्रभावित हुए बीजेपी कार्यकर्ताओं और उनके परिजनों से मिलने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल का दौरा किया. वहां वे दक्षिण 24 परगना में हरन अधिकारी (बीजेपी कार्यकर्ता) के घर गए.

इस मौके पर नड्डा ने मीडिया से हुई बातचीत में कहा कि- टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने अधिकारी के घर पर हमला कर दिया. उन्होंने बर्बरता की, महिलाओं और बच्चों को धमकाया, उन पर हमला किया और उनकी पत्नी के दांत तोड़ दिए. फिर उन्होंने अधिकारी को उसके घर से बाहर खींच लिया और उसके साथ मारपीट की. उनकी मृत्यु हो गई.

साथ ही जे पी नड्डा ने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि- ममता जी, आपकी पार्टी ने जीत के बाद क्या किया? जबकि आप लोकतंत्र में आपके विश्वास के बारे में बोलती हैं. टीएमसी कार्यकर्ता और नेता कह रहे हैं कि सोशल मीडिया पर ये सभी घटनाएं फर्जी हैं. आपने देखा कि कैसे हरन अधकारी की पत्नी और बेटा रो रहे थे. मैं मीडिया से अनुरोध करता हूं कि वह सच को बताए.

आप को बता दें कि नंदीग्राम सीट से ममता बनर्जी को 1736 वोटों से मात देने के बाद शुवेंदु अधिकारी ने भी मंगलवार को टीएमसी कार्यकर्ताओं पर उनकी कार पर हमला करने का आरोप लगाया. शुवेंदु ने ट्वीट कर कहा, तृणमूल बंगाल में आतंक का माहौल बनाना चाहती है. आज हल्दिया में मेरी कार पर हमला हुआ. पत्थर फेंककर कार के शीशे तोड़ने का प्रयास किया गया.

बीजेपी का आरोप है कि पश्चिम बंगाल में बीते 24 घंटे में भड़की हिंसा में नौ लोग मारे जा चुके हैं. पार्टी के पदाधिकारियों ने इस संदर्भ में राज्यपाल जगदीप धनखड़ के सामने अपनी शिकायत दर्ज कराई. इस पर सुनवाई करते हुए राज्यपाल ने सोमवार को डीजीपी पश्चिम बंगाल पुलिस और कोलकाता पुलिस आयुक्त को राज्य में आगजनी, लूटपाट और हिंसा की लगातार बढ़ती घटनाओं पर तुरंत प्रभाव से काबू पाने के निर्देश दिए.



न्यूज़24 हिन्दी