Close

Bihar Budget 2021 : नीतीश सरकार ने बिहार के लिए पेश किया 2,18,303 करोड़ रुपये का बजट, जानें किसे क्या मिला

News

पटना : उत्तर प्रदेश के साथ-साथ आज बिहार विधानसभा में भी बजट पेश किया गया. नीतीश कुमार की सरकार ने बिहार के लिए साल 2021-22 के लिए 2 लाख 18 हजार 303 करोड़ रुपये का बजट पेश किया. राज्य के उप मुख्यमंत्री और वित्तमंत्री तारकिशोर प्रसाद विधानमंडल में शेरो शायरी के साथ अपना पहला बजट सदन के पटल पर रखा. बजट भाषण शुरु करते ही उन्‍होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की कविता पढ़ी, जो बाधाओं से जूझने के लिए प्रेरित करती हैं – ‘बाधाएं आती हैं आएं..कदम मिलाकर चलना होगा.’ 

वित्‍त मंत्री ने ‘ उनकी शिकवा है कि मेरी उड़ान कुछ कम है. रख हौसला वह मंजर भी आएगा. प्यासे के पास, चलकर समंदर भी आएगा. थककर न बैठ मंजिल के मुसाफिर. मंजिल भी मिलेगी और मिलने का मजा भी आएगा.’ शायरी के साथ अपने बजट भाषण का समापन किया.

बजट पेश करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार के प्रयासों से हम आर्थिक संकट से बाहर निकल पाए हैं. कोरोना अभी टला नहीं है. विपत्तियों से हम घबराते नहीं हैं. अंधकार के बाद नया सवेरा आता है. साथ ही उन्होंने कहा कि ये बजट सर्वांगीण विकास का बजट है. तार किशोर प्रसाद ने कहा कि हमने सभी सेक्टर के लोगों से सुझाव लेने के बाद बजट को तैयार किया है, ये समावेशी बजट है, इसमें हर तबके का ख्याल रखा गया है.   

इस बार बिहार का कुल बजट 2,18,303 करोड़ रुपये का है. पिछले साल से यह सात हजार करोड़ रुपये ज्यादा का बजट है. वित्तीय वर्ष 2020-21 में बिहार का बजट दो लाख 11 हजार करोड़ रुपये का था. बजट में 20 लाख से ज्यादा रोजगार के नए अवसर सृजित किये जाने की बातें कही गई है. बजट में 2 लाख 18 हजार 502 करोड़ की अनुमानित आय का दावा किया है. योजना मद में एक लाख 51 हजार 881 करोड़ रुपये खर्च करने की व्यवस्था की गई है.

तारकिशोर प्रसाद बजट भाषण की शुरुआत में ही कहा कि ये बजट राज्य में रोजगार और युवाओं को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है. उन्होंने कहा कि नये बजट में सात निश्चय पार्ट-2, आत्मनिर्भर बिहार समेत अन्य योजनाओं पर सबसे ज्यादा रुपये खर्च होंगे. शिक्षा और स्वास्थ्य पर सबसे ज्यादा फोकस होगा. कोरोना काल को देखते हुए स्वास्थ्य में कई नयी बातों का जिक्र किया जा सकता है. श्रम संसाधन में खर्च किए जाएगें 550 करोड़ वित्त मंत्री ने बजट भाषण के दौरान कहा कि युवाओं को स्वालम्बी बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है. उन्हें स्किल्ड करने के लिए भी मेगा स्किल सेंटर खोला जाएगा. 

राज्य के आईटीआई और पॉलिटेक्निक सेंटर को आधुनिक बनाया जाएगा. श्रम संसाधन में 550 करोड़ खर्च किया जाएगा. नीतीश कुमार के सात निश्चय योजना पर बजट में खास फोकस वित्त मंत्री ने कहा कि बिहार के विकास के लिए 2015 में 7 निश्चय योजना शुरू की गई. इसके तहत लगातार काम किया जा रहा है. 4671 करोड़ रुपये 7 निश्चय पार्ट-2 की राशि. हर घर बिजली के तहत गांवों में बिजली पहुंचाया जा रहा. हर घर नल का जल पहुंचाया जा रहा है. अब तक 479680 लाभुकों को लाभान्वित किया गया. 

महिलाओं के 35 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था की गई. महिला उद्यमिता के लिए विशेष योजना डिप्टी सीएम और वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि राज्य में तीन नए मेडिकल कालेज खोलने की प्रक्रिया चल रही है. अब तक 14 पॉलीटेक्निक कालेज खोले जा चुके हैं. अन्य पर कार्रवाई चल रही है जिन्हें इस वर्ष तक पूरा कर लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि राज्य में खेल विश्वविद्यालय की स्थापना होगी. महिला उद्यमिता के लिए विशेष योजना लाया जाएगा. सरकारी दफ्तरों खास कर क्षेत्रीय प्रशासन, पुलिस थाना, में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाई जाएगी. अभी महिलाओं को 35 फीसदी आरक्षण है लेकिन उनकी भागीदारी और बढायी जाएगी.

बिहार बजट की बड़ी बातें

– कोरोना की मुश्किलों के बावजूद आम लोगों को राहत देते हुए किसी प्रकार का टैक्स नहीं लगाया गया है. 

– पिछले साल से यह सात हजार करोड़ रुपये ज्यादा का बजट है. वित्तीय वर्ष 2020-21 में बिहार का बजट दो लाख 11 हजार करोड़ रुपये का था. 

– बजट में वित्त मंत्री ने अगले वित्तीय वर्ष में दो लाख 18 हजार 502 करोड़ की अनुमानित आय का दावा किया है. योजना मद में एक लाख 51 हजार 881 करोड़ रुपये खर्च करने की व्यवस्था की गई है.

– युवाओं को स्वालम्बी बनाने और स्किल्ड करने के लिए भी मेगा स्किल सेंटर खोला जाएगा. 

– राज्य के आईटीआई और पॉलिटेक्निक सेंटर को आधुनिक बनाया जाएगा. हर जिले में मेगा स्किल सेंटर खोले जाएंगे. हर मंडल में टूल रूम बनाए जाएंगे, हर प्रमंडल में – ट्रेनिंग सेंटर का स्थापना, उच्चस्तरीय सेंटर फॉर एक्सीलेंस बनाए जाएंगे. 

– श्रम संसाधन में 550 करोड़ खर्च किया जाएगा.

– महिलाओं को उद्योग के लिए 5 लाख का अनुदान दिया जाएगा. इसके अलावा 5 लाख का लोन पर बिना किसी ब्याज के मिलेगा. इसके लिए 200 करोड़ का प्रावधान. 

– महिलाओं को सरकारी नौकरी में 35 फीसदी आरक्षण. कार्यालयों में आरक्षण के अनरूप महिलाओं की संख्या बढ़ाई जाएगी. 

– राजगीर में खेल विश्वविद्यालय के स्थापना होगी. 

– विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग को 110 करोड़. उद्योग लगाने के लिए 5 लाख का ऋण मात्र 1 प्रतिशत पर दिया जाएगा. 

– 20 लाख रोजगार के अवसर उत्पन्न कराया जाएगा.

– बिहार में गोवंश विकास संस्थान के लिए 500 करोड़ रुपये. 

– मत्स्य विभाग को 500 करोड़. मछली का उत्पादन बढ़ाकर बिहार से बाहर भेज जाएगा. 

– सभी शहर में और नदी किनारे शव दाह गृह बनेगा. सभी गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगाई जाएगी.

– 4671 करोड़ सात निश्चय पार्ट-2 के लिए स्वीकृत. सात निश्चय पार्ट टू पर काम शुरू. हर घर नल जल पहुंचा रहे हैं.

– राज्य में तीन नए मेडिकल कालेज खोलने की प्रक्रिया चल रही है. अब तक 14 पॉलीटेक्निक कालेज खोले जा चुके हैं. अन्य पर कार्रवाई चल रही है जिन्हें इस वर्ष तक पूरा कर लिया जाएगा.

 



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top