Close

रेलवे का बड़ा ऐलान, दिल्ली में किसान हिंसा के दौरान 9 बजे तक ट्रेन छूटी तो वापस होगा पैसा

News

नई दिल्लीः दिल्ली में गणतंत्र दिवस के मौके पर किसान ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा देखने को मिली, जिससे राजधानी में लोगों को भारी जाम का सामना करना पड़ा. किसानों के ट्रैक्टरों के चलते शहर में जगह-जगह ट्रैफिक खड़े दिखे, जिससे लोगों की ट्रेन भी छुट गई. रेलवे ने  ट्रेन छुटने वाले लोगों के लिए बड़ा ऐलान कर दिया है.

रेलवे उन सभी लोगों के टिकट का पूरा पैसा वापस करेगा, जिन्हें दिल्ली से ट्रेन पकड़नी थी, लेकिन वो समय पर स्टेशन नहीं पहुंच सकेष रेलवे की ओर से यात्रियों से अपील की गई है कि जिनकी भी ट्रेन आज रात 9 बजे तक दिल्ली से थी वो रिफंड के लिए अप्लाई कर दें.

उत्तर रेलवे के सीपीआरओ ने कहा कि किसान आंदोलन के कारण रुट में बदलाव किए जाने की वजह से जो यात्री दिल्ली क्षेत्र के अंतर्गत पड़ने वाले स्टेशनों से ट्रेनों को पकड़ने में नाकाम रहे हैं, उनसे निवेदन है कि ई-टिकट लेने वाले टीडीआर और ई-टीडीआर के माध्यम से आज मंगलवार रात 9 बजे तक आवेदन कर दें. 

गणतंत्र दिवस के अवसर पर आज किसानों की ओर से निकाली गई ट्रैक्टर रैली के दौरान कई जगहों पर प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच झड़प हो गई. साथ ही हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी किसान निर्धारित रूटों पर जाने के बजाए ऐतिहासिक लाल किला और आईटीओ में जबरन प्रवेश कर गए. इन लोगों को रोकने के लिए सुरक्षाकर्मियों को लाठीचार्ज और आंसू गैस का सहारा लेना पड़ा.

बता दें कि मंगलवार को ट्रैक्टर परेड के दौरान राजधानी में हालात बेकाबू होने के बाद गृह मंत्रालय ने बैठक कर यह बड़ा फैसला लिया है. स्थिति पर खुफिया एजेंसियां नजर बनाए हुए हैं. दिल्ली पुलिस की ओर से तीन बॉर्डरों से किसानों को ट्रैक्टर परेड निकालने अनुमति दी थी. 

आईटीओ के पास किसान और पुलिस में तीखी झड़प देखने को मिली. किसानों ने पथराव किया, जिसके जवाब में पुलिसकर्मियों ने आंसू गैस के गोले दागे और वाटर कैनन का भी प्रयोग किया. बाज नहीं आने पर पुलिस ने किसानों को तितर-बितर करने को लाठीचार्ज भी किया. 



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top