चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में हिंसा का ‘खेला’, BJP का कल देशभर धरना, आज नड्डा जाएंगे कोलकाता

News

अमित कुमार, नई दिल्ली: चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का दौर शुरू हो गया है. चुनाव नतीजे आने के बाद राज्य में हमले और हत्या की घटनाओं सामने आईं. आरामबाग में बीजेपी के दफ्तर को आग के हवाले कर दिया गया. कूचबिहार में भी हिंसा देखने को मिली. बीजेपी ने इन घटनाओं के लिए ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी को जिम्मेदार ठहराया है. साथ ही बीजेपी का आरोप है कि उनके कार्यकर्ताओं पर ममता बनर्जी की शह पर ये हमले हो रहे हैं.

वहीं इस राजनीतिक हिंसा के खिलाफ बीजेपी 5 मई यानी बुधवार को देशव्यापी धरना प्रदर्शन का ऐलान किया है. वहीं बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा पश्चिम बंगाल जा रहे हैं. इस बीच प्रदेश में ऐसी हिंसा का केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी संज्ञान लिया है. मंत्रालय ने प्रदेश में चुनाव के बाद विपक्षी दल के नेताओं को टारगेट कर की गई हिंसाओं की रिपोर्ट राज्य सरकार से मांगी है.

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम आने के 24 घंटे के भीतर बीजेपी के कई कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई. कई कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हुए. पार्टी के कई कार्यकर्ताओं के घर और दुकान तक जला दिए गए. बीजेपी के मुताबिक, ममता बनर्जी की तृणमूल सरकार के शासन में अब तक 140 से अधिक बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है. बावजूद इसके राज्य प्रशासन आंखें मूंदे बैठा है. चुनाव परिणाम के 24 घंटे के अंदर बीजेपी के कई कार्यकर्ताओं की हत्या की खबर है. BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने हमले का एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है. इसमें जीत का जश्न मना रहे कुछ लोग एक घर में घुसकर तोड़फोड़ कर रहे हैं.

इसी कड़ी में बीजेपी कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा आज पश्चिम बंगाल पहुंच रहे हैं. नड्डा दो दिनों तक बंगाल में रहकर हिंसा के शिकार परिवारों से मिलेंगे और संवेदना व्यक्त करेंगे.  साथ ही बीजेपी कोविड गाइडलाइन का पालन करते इस हिंसा के खिलाफ देशव्यापी प्रदर्शन का ऐलान किया है. 

आपको बता दे कि राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी की अगुवाई वाली तृणमूल कांग्रेस ने 213 सीटें जीतीं है. जबकि BJP को 77 सीटें मिली है. कोरोना से उम्मीदवारों की मौत के कारण मुर्शिदाबाद में दो सीटों पर चुनाव टाल दिए गए हैं. 



न्यूज़24 हिन्दी