राजस्थान में 2 महीने बाद एक ही दिन में कोरोना के 250 नए मरीज मिले

News

(केजे श्रीवत्सन) जयपुर: राजस्थान में कोरोना संक्रमण फिर से अपना पैर पसरता जा रहा है. हालांकि राहत की बात यह है की जिस रफ्तार से संक्रमण बढ़ता जा रहा है. उससे कई गुना तेजी से लोग कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए भी आगे आ रहे हैं. इन सबके बीच चौंकाने वाली बात ये है कि लगातार चार दिनों से 200 से ज्यादा नए संक्रमणित मरीज मिलने से चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग में हडकंप मच गया है. 

पिछले दो महीनों में यह पहला मौका है जब एक साथ लगातार चार दिनों से इस तादाद में मरीज मिल रहे हैं. वह भी उस वक्त जब जांच के लिए कोई स्पेशल कैम्प नहीं लगे हैं. इस साल फरवरी महीने के ही अंतिम सप्ताह में जब नए संक्रमित मरीजों की संख्या 100 से भी कम आने लगी थी तो लग रहा था की कोरोना पर जल्द ही पूरी तरह काबू पा लिया जाएगा, लेकिन अब संक्रमित मरीजों की दोगुनी रफ्तार से  रफ्तार ने चिंता बढ़ा दी है. जोधपुर में तो पिछले 24 घंटे में कोरोना से एक पीड़ित की जान भी चली गयी है. वहीं कोचिंग सिटी कोटा, उदयपुर, भीलवाड़ा और राजसमन्द में भी करीब 25-25 नए मरीज एक साथ मिलने और जयपुर में 49 मामले एक ही दिन में मिलने से स्वाथ्य विभाग अलर्ट हो गया है. ऐसे में डॉक्टर्स भी इसे कोरोना संक्रमण के कई इलाकों में वापस आने की आहट मान रहे हैं.

आंकड़ों की बात करें तो राजस्थान में अब तक 3,22,969 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. समस्या यह भी है कि रिकवरी घटने के कारण अब एक्टिव केस 2453 हो गए हैं. दो दिन में ही रिकवरी रेट 0.9% घटी है. उदयपुर और जयपुर में कुछ दिन से संक्रमण लगातार बढ़ रहा है. वैसे अभी भी राजस्थान के 33 में से 7 जिले ऐसे हैं जहां कोई नया संक्रमित नहीं मिला है. लेकिन जहां कोरोना के मामले सबसे कम हो गए थे उन्हीं जिलों में फिर से इसके बढ़ने को लेकर अब सरकार ने नयी रणनीति के साथ लोगों को लापरवाही छोड़ने के लिए समझाना शुरू कर दिया है. वैसे सरकार ने महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश से आने वाले लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट को अनिवार्य बना दिया है. ताकि इस इलाके से आने वाले लोगों के चलते फिर से संक्रमण तेजी से यहां ना फैले.  



न्यूज़24 हिन्दी