बीजेपी को हराने के लिए जेजेपी का ये प्लान अब तक रहा है कामयाब, जानिए उन 17 नेताओं के बारे में जो बीजेपी का खेल बिगाड़ेंगे

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 में इस बार मुकाबला बीजेपी और जेजेपी के बीच माना जा रहा है. कांग्रेस में आपसी कलह का पूरा फायदा जेजेपी को मिला है. वहीं इनेलो के दिग्गज नेताओं को भी अपनी और खींचने में जेजेपी कामयाब रही.

बीजेपी से लड़ने के लिए जेजेपी ने जो प्लान बनाया था उसमें दुष्यंत चौटाला की टीम कामयाब भी रही है. दरअसल जेजेपी के पास 90 नब्बे विधानसभा सीट पर उतारने के लिए उम्मीदवार नहीं थे. इस बात इनकार नहीं किया जा सकता है. 

पार्टी ने अपने उम्मीदवारों की लिस्ट भी इस तरह से जारी की. जेजेपी ने 90 सीटों पर अपने 90 उम्मीदवार उतारने के लिए सभी पार्टियों की लिस्ट का इंतजार किया. हालांकि पहली लिस्ट काफी पहले ही जारी कर दी थी.

ये भी पढ़ें:  ओपिनियन पोल: राजस्थान. मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की बनेगी सरकार!

जेजेपी ने इंतजार कर और सभी पार्टियों के उम्मीदवार को देख कर अपने उम्मीदवार उतारे. इन उम्मीदवारों में 17 उम्मीदवार दूसरी पार्टी से आए हुए नेता है. 

कांग्रेस के पूर्व विधायक और राज्यसभा सदस्य ईश्वर सिंह को पार्टी ने टिकट नहीं दिया था. जिसके बाद वह जेजेपी में शामिल हो गए और गुलहा से चुनाव लड़ रहे हैं. कांग्रेस के एक अन्य वरिष्ठ नेता और दो बार के विधायक सतविंदर राणा कलायत से जेजेपी के उम्मीदवार हैं.

राम करण काला, जो कि इनेलो के साथ थे और 2014 के विधानसभा चुनावों में शाहबाद से सिर्फ 500 वोटों से हार गए थे, पहली बार कांग्रेस में शिफ्ट हुए. कांग्रेस ने उन्हें इस बार टिकट देने से इनकार कर दिया. वह अब शाहबाद से जेजेपी के उम्मीदवार हैं.

ये भी पढ़ें:  मोदी सरकार ने प्रचार पर ही खत्म कर दी ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ की 56 फीसदी राशि, राज्यों और जिलों को मिली 25 फीसदी राशि

पूर्व कांग्रेस मंत्री मांगे राम गुप्ता भी जेजेपी के पाले में हैं और उनके बेटे महावीर जींद से जेजेपी के उम्मीदवार हैं. साथ ही, दो बार की कांग्रेस विधायक अनीता यादव जेजेपी में शामिल हुईं और उनके बेटे सम्राट यादव अटेली से पार्टी के उम्मीदवार हैं.

पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता सतपाल सांगवान और भूपेंद्र मलिक हाल ही में जेजेपी में शामिल हुए हैं और उन्हें दादरी और बड़ौदा से टिकट दिया गया.

शिव शंकर भारद्वाज (भिवानी), जो पहले कांग्रेस के साथ थे और बाद में बीजेपी में चले गए लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिला. वे जेजेपी में शामिल हो गए हैं और भिवानी से चुनाव लड़ रहे हैं.

बीजेपी से टिकट नहीं मिलने पर जोगी राम सिहाग पार्टी को अलविदा कह दिया. वे बरवाला खंड में बीजेपी के एक सक्रिय नेता थे, उन्हें वहीं से जेजेपी का टिकट मिला.

ये भी पढ़ें:  अनिल विज ने दुष्यंत चौटाला को दिया ओपन चैलेंज, जननायक जनता पार्टी को लेकर यह की बड़ी भविष्यवाणी

पवन खरखौदा, जो 2014 में आजाद में दूसरे स्थान पर रहे और बाद में बीजेपी में शामिल हो गए, अब खरखौदा से जेजेपी के उम्मीदवार हैं. 2014 में फिरोजपुर झिरका से निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ने वाले अमन अहमद इस बार जेजेपी के टिकट पर लड़ रहे हैं. 

इनेलो और कांग्रेस में सक्रिय रहे रोहतास खटाना को जेजेपी ने सोहना से टिकट दिया है. पुन्हाना बीजेपी के प्रमुख नेता इकबाल जेलदार ने 2014 के चुनावों के बाद पार्टी छोड़ दी थी और जेजेपी द्वारा उन्हें टिकट दिया गया है.

अभी-अभी

हरियाणा में बीजेपी को बहुमत नहीं, जेजेपी कर सकती है कमाल, जानिए हरेक सीट का सबसे सटीक एग्जिट पोल

हरियाणा में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान हो चुके हैं और सभी

हरियाणा में बीजेपी उम्मीदवार का दावा, बटन कोई भी दबा देना, वोट बीजेपी को ही जाएगा

हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए 21 अक्टूबर को होने जा रही वोटिंग से पहले असंध सीट

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने हरियाणा में बीजेपी उम्मीदवार के लिए नाच-गाना कर माँगे वोट

हरियाणा चुनाव में बीजेपी के उम्मीदवार के लिए वोट मांगने पहुंचे बीदेपी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष

हरियाणा चुनाव-2019: फतेहाबाद में बीजेपी के ख़िलाफ़ सड़कों पर उतरे लोग, उम्मीदवार के ख़िलाफ़ की जमकर नारेबाजी

हरियाणा में चुनाव में महज़ 72 घंटे से कम समय का वक़्त बचा लेकिन बीजेपी

जननायक जनता पार्टी ने जारी किया ‘जन सेवा पत्र’, जानिए इस घोषणा पत्र में आपके लिए क्या है ख़ास

जननायक जनता पार्टी ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है. जेजेपी ने इसे ‘जन

भारत में भूखमरी काफ़ी गंभीर स्तर पर, ग्लोबल हंगर इंडेक्स में 117 देशों में 102वें स्थान पर

वैश्विक भुखमरी सूचकांक यानी ग्लोबल हंगर इंडेक्स (जीएचआई) में दुनिया के 117 देशों में भारत 102वें

सीएम खट्टर ने दी ईवीएम की नई परिभाषा, बोले- ईवीएम का मतलब:’ऐवरी वोट फॉर मोदी, ऐवरी वोट फॉर मनोहर’

गुरूग्राम विधान सभा मे अपने प्रत्याशी को जिताने के लिए मुख्य्मंत्री मनोहर लाल खट्टर एक जनसभा को

अशोक तंवर ने दिया जननायक जनता पार्टी को समर्थन, कहा- जल्द ही कांग्रेस का घमंड टूट जाएगा, दुष्यंत बनेंगे सीएम

कांग्रेस के सभी पदों से इस्तीफा दे चुके हरियाणा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक

आईएमएफ ने भारत की विकास दर घटाई, 2019-20 में जीडीपी 6.1 फीसदी की रफ़्तार से करेगी विकास

अब अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने भारत की वित्त वर्ष 2019-20 में रहने वाली विकास

क्या पीएम मोदी ने भी मान ली है हरियाणा में बीजेपी की हार, कुरुक्षेत्र रैली में ऐसा बयान क्यों दिया?

हरियाणा में 21 अक्टूबर को चुनाव है और इसके लिए सभी पार्टियाँ ज़ोर-शोर से प्रचार

फेसबुक पर हमें पसंद करें..