मेघालय: शिलॉन्ग में हिंसक हुई भीड़, सुरक्षाबलों पर फेंके पेट्रोल-बम

शिलॉन्ग: मेघालय की राजधानी शिलॉन्ग में हिंसा बढ़ती  ही जा रही है. खबरों की माने तो शिलॉन्ग के जीएस रोड पर उपद्रवियों ने सुरक्षा बलों को टारगेट करते हुए पेट्रोल बम और पत्थर फेंके हैं. जवाब में सुरक्षा बलों ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े. बताया जा रहा है कि पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में भी लिया है.  हालांकि राज्य सरकार ने सतर्कता बरतते हुए शिलॉन्ग के कुछ इलाकों में तैनात सुरक्षा बलों की संख्या बढ़ा दी है.

अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने ट्वीट कर लोगों से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है. उन्होंने कहा कि मेघालय में अल्पसंख्यक सिख समुदाय के किसी भी गुरुद्वारे को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. कानून और व्यवस्था की स्थिति नियंत्रण में है और राज्य सरकार स्थिति को सामान्य बनाने के लिए भरसक प्रयास कर रही है.

पंजाब सरकार ने भेजी टीम

शिलॉन्ग में सिखों की सुरक्षा को खतरे की खबरों से चिंतित पंजाब सरकार ने कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर रंधावा के नेतृत्व में चार सदस्यीय एक टीम मेघालय की राजधानी भेजी है. एक अधिकारिक प्रवक्ता बताया कि टीम संकटग्रस्त इलाकों में हालात का जायजा लेगी और वहां सिख समुदाय को हर संभव मदद करेगी. मुख्यमंत्री ने टीम को सोमवार की सुबह शिलॉन्ग के लिए रवाना होने को कहा.

ये भी पढ़ें:  राहुल गांधी ने राष्ट्र गान का अपमान किया या सम्मान? जाने पूरा सच

अमरिंदर ने टीम की तनाव वाले इलाकों में पहुंच सुनिश्चित करने के लिए मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा का सहयोग मांगा है. प्रवक्ता ने बताया कि अमरिंदर ने संगमा से सिख समुदाय और उनकी धार्मिक संस्थाओं को राज्य में सुरक्षा मुहैया करने का अनुरोध किया.

शिलॉन्ग की झड़प सांप्रदायिक नहीं: मुख्यमंत्री

मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड के संगमा ने कहा है कि गुरुवार को हिंसा स्थानीय मुद्दे पर भड़की थी और यह सांप्रदायिक नहीं थी. कर्फ्यू में शनिवार को सात घंटे की ढील दी गई. दो समुदायों से जुड़ी झड़प के मद्देनजर दिल्ली से शिरोमणि अकाली दल के नेताओं के एक दल ने मेघालय की राजधानी का दौरा किया है. हिंसा में कम से कम 10 लोग घायल हो गए थे.

अधिकारियों ने बताया कि ईस्ट खासी हिल्स जिला प्रशासन ने सुबह आठ बजे से दोपहर तीन बजे तक कर्फ्यू में ढील देते हुए रविवार की प्रार्थना के लिए लोगों को चर्च जाने की अनुमति दी. संगमा कहा, ‘समस्या एक खास मुद्दे पर स्थानीय स्तर की है. बस ये हुआ कि दो खास समुदाय के लोग इसमें शामिल थे, लेकिन यह सांप्रदायिक नहीं था.’

उन्होंने कहा कि कुछ समूहों और राज्य के बाहर के मीडिया के एक धड़े ने इसे सांप्रदायिक रंग दिया. उन्होंने कहा कि हिंसा के मामले में ईस्ट खासी हिल्स जिले के बाहरी इलाके के कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया और कुछ लोगों ने उन्हें शराब और नगदी बांटी थी. शिलॉन्ग ईस्ट खासी हिल्स जिले में आता है.

ये भी पढ़ें:  मेरे पास न मोदी है न हेमामालिनी, युवा ही हैं मेरे स्टार प्रचारक: दुष्यंत चौटाला

इससे पहले, शिअद की एक टीम ने हिंसा प्रभावित इलाके के बाशिंदों से मुलाकात की. टीम में विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा और पार्टी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मंजीत सिंह भी थे. शिअद के दल ने मुख्यमंत्री से भी मुलाकात की.

निलंबित रहेगी इंटरनेट और मैसेजिंग सेवा

अधिकारियों ने बताया कि लुमडिंगजरी थाना और छावनी पुलिस बीट हाउस के 14 क्षेत्रों में कर्फ्यू तीन बजे फिर से बहाल कर दिया गया. अधिकारी ने बताया कि समूचे शहर में रात 10 से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा और इंटरनेट और मैसेजिंग सेवा निलंबित रहेगी .

रात भर चली हिंसा में पुलिस अधीक्षक घायल

बता दें कि शुक्रवार को रात भर चली हिंसा के दौरान उग्र भीड़ ने एक दुकान और एक मकान को आग के हवाले कर दिया था और कम से कम पांच वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया. इस हिंसा में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी घायल हो गया.

ड्यूटी पर मौजूद एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि पुलिस अधीक्षक (शहर) स्टीफन रिंजा पर एक रॉड से वार किया गया, जिसके बाद उन्हें शिलॉन्ग सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया.

हिंसा में पुलिसकर्मी समेत कम से कम 10 लोग घायल हो गए, जिसके बाद इलाके में कथित तौर पर अवैध रूप से रह रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग उठने लगी. वहीं शहर के अशांत मोटफ्रन इलाके में पत्थरबाजों ने राज्य पुलिसकर्मियों पर हमला किया.

दंगाइयों को हटाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े

ये भी पढ़ें:  लोकसभा चुनाव-2019: पूर्वोत्तर में बीजेपी को बड़ा झटका, बीते कई दिनों में दो दर्जन से ज्यादा नेताओं ने पार्टी को दिखाया ठेंगा

अधिकारी ने बताया कि दंगाइयों को हटाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े गए, लेकिन दूसरे हिस्से के लोगों ने इसे पुलिस की गोलीबारी समझ लिया. बृहस्पतिवार को थेम मेटोर इलाके में स्थानीय लोगों के एक समूह ने बस के एक सहायक से कथित तौर पर मारपीट की थी, जिसके बाद झड़प शुरू हो गई थी.

अधिकारियों ने बताया कि इस झड़प ने तब और उग्र रूप ले लिया, जब सोशल मीडिया पर यह अफवाह फैलाई गई कि घायल सहायक की मौत हो गई, जिससे थेममेटोर में बस चालकों का समूह इकट्ठा हो गया. भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े.

बस सहायक और तीन अन्य घायलों को अस्पताल ले जाया गया और प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. पूर्वी खासी हिल्स के जिला अधिकारियों ने बताया कि कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए शुक्रवार रात 10 बजे से शनिवार सुबह के पांच बजे तक कर्फ्यू लगाया गया था.

उन्होंने बताया कि तीन स्थानीय लड़कों के साथ हुई मारपीट में शामिल एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसके साथियों की तलाश की जा रही है. शनिवार को खासी छात्र संघ (केएसयू), फेडरेशन ऑफ खासी जयंतिया एंड गारो पीपुल (एफकेजेजीपी) और हनीट्रेप यूथ काउंसिल ने स्थानीय लड़कों के साथ मारपीट में शामिल लोगों को सजा दिलाने और थेम मेटोर में अवैध रूप से रह रहे लोगों को हटाने की मांग की है.

 

अभी-अभी

दिल्ली के रोहणी इलाके में लड़की का अपहरण कर गोली मारकर हत्या, जाँच में जुटी पुलिस

देश की राजधानी दिल्ली के रोहणी इलाके से एक लड़की का अपहरण करके गोली मारकर हत्या

दिल्ली की अनाज मंडी इलाक़े में लगी भीषण आग, 31 लोगों की मौत, 50 से ज़्यादा लोगों को बचाया गया

दिल्ली के रानी झांसी रोड पर रविवार सुबह अनाज मंडी में भीषण आग लग गई.

जेजेपी नेता अजय चौटाला का बड़ा बयान, कहा-नैना नहीं बनेगी मंत्री, इन विधायकों को बनाएंगे मंत्री

जेजेपी नेता अजय चौटाला ने कहा कि हरियाणा सरकार में उनकी पत्नी नैना चौटाला मंत्री

मारे गए आईएसआई सरगना अबू बकर अल बगदादी की बहन को तुर्की फौजों ने सीरिया में गिरफ्तार किया

आतंकी संगठन आईएसआईएस के प्रमुख अबू बक्र अल-बगदादी की बहन को तुर्की ने सोमवार को

दिल्ली में प्रदुषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों को लताड़ा, कहा-ऐसे वातावरण में कोई कैसे जीएगा

भारत में प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने चिंता ज़ाहिर करते हुए मोदी सरकार और

हरियाणा में नए साल पहले लाखों सरकारी कर्मचारियों को सरकार का तोहफ़ा, इस भत्ते में की गई बढ़ोतरी

हरियाणा के लाखों सरकारी कर्मचारियों को नए साल से पहले बीजेजेपी सरकार ने तोहफा दिया

हरियाणा: करनाल में 5 साल की मासूम बच्ची 50 फ़ीट गहरे बोरवेल में गिरी, बचाव अभियान जारी

हरियाणा के करनाल में एक पांच साल की बच्ची खेलते हुए 50 फीट गहरे बोरवेल

हरियाणा में क़रीब 45000 विद्यार्थियों को मिलेगी वाहन सुविधा, जानिए क्या है यह योजना

हरियाणा में शिक्षा विभाग ने उन बच्चों को लेकर एक अहम कदम उठाया है जो

हरियाणा के इन ज़िलों में 4 और 5 नवंबर को स्कूल रहेंगे बंद, प्रदूषण का सबसे ज़्यादा असर पड़ रहा है बच्चों पर

दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण के कारण एयर क्वॉलिटी बहुत खराब श्रेणी की पहुंच गई है.

जासूसी कांड पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर लगाया आरोप, प्रियंका गांधी को भी मिला व्हाट्सएप मैसेज

व्हाट्सएप जासूसी कांड को लेकर कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है.

फेसबुक पर हमें पसंद करें..