केरल में मौत का वायरस ‘निपाह’, अब तक 3 लोगों की मौत, जाने- क्या है ये वायरस

नई दिल्ली :  केरल में इन दिनों एक वायरस मौत का ख़तरा पैदा कर रहा है. निपाह निपाह नाम  के इस वायरस ने लोगों में दहशत पैदा कर रखी. वहीं डॉक्टर्स भी इस बीमारी का अब तक इलाज नहीं ढूंढ पाएं है. जानकारी के मुताबिक पिछले दो हफ़्ते में केरल के तटीय शहर कोझिकोड में एक ही परिवार के 3 लोगों की जान ले चुका है ये वायरस.

एनडीटीवी के मुताबिक राज्य के स्वास्थ्य मंत्री केके शायलजा ने रविवार को कहा था कि इस वायरस की प्रकृति का पूरी तरह से पता नहीं चल पाया है. उन्होंने कहा था, ”मृतक की बीमारी के पीछे कौन सा वायरस है, यह अब भी रहस्य है. मृतक के ख़ून और दूसरे सैम्पल पुणे में नेशनल वायरोलॉजी इंस्टिट्यूट को भेजे गए हैं.”

वहीं पड़ोसियों ने स्वास्थ्य अधिकारियों को कथित तौर पर बताया कि इन तीनों को फल खाते देखा था. इन मौतों के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने नेशनल सेंटर फॉर डिजिज़ कंट्रोल के निदेशक को प्रभावित ज़िले में जाने को कहा है ताकि राज्य सरकार की मदद की जा सके. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक तीनों की मौत के 12 घंटे के भीतर कोझिकोड और मलप्पुरम में इन्हीं लक्षणों के साथ आठ और लोगों की मौत की ख़बर आई है. लेकिन ये वायरस है क्या और कैसे फैलता है? कैसे ये इतना ख़तरनाक हो जाता है कि जानलेवा हो जाता है.

ये भी पढ़ें:  लोकसभा चुनाव-2019: उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने फिर मारी बीजेपी में घर में सेंध, अब इस बड़े नेता की बहु कांग्रेस में होंगी शामिल

कैसे फैलता है निपाह वायरस?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक़ निपाह वायरस (NiV) तेज़ी से उभरता वायरस है, जो जानवरों और इंसानों में गंभीर बीमारी को जन्म देता है. NiV के बारे में सबसे पहले 1998 में मलेशिया के कम्पंग सुंगाई निपाह से पता चला था. वहीं से इस वायरस को ये नाम मिला. उस वक़्त इस बीमारी के वाहक सूअर बनते थे. लेकिन इसके बाद जहां-जहां NiV के बारे में पता चला, इस वायरस को लाने-ले जाने वाले कोई माध्यम नहीं थे. साल 2004 में बांग्लादेश में कुछ लोग इस वायरस की चपेट में आए. इन लोगों ने खजूर के पेड़ से निकलने वाले तरल को चखा था और इस तरल तक वायरस को लेने जानी वाली चमगादड़ थीं, जिन्हें फ्रूट बैट कहा जाता है.

ये भी पढ़ें:  विश्व बैंक ने की मोदी सरकार की तारीफ़, पर भारत बांग्लादेश और केन्या से पीछे

अब तक कोई इलाज नहीं?

इसके अलावा इस वायरस के एक इंसान से दूसरे इंसान तक पहुंचने की पुष्टि भी हुई और ये भारत के अस्पतालों में हुआ है. इंसानों में NiV इंफ़ेक्शन से सांस लेने से जुड़ी गंभीर बीमारी हो सकती है या फिर जानलेवा इंसेफ़्लाइटिस भी अपनी चपेट में ले सकता है. इंसानों या जानवरों को इस बीमारी को दूर करने के लिए अभी तक कोई इंजेक्शन नहीं बना है. सेंटर फ़ॉर डिसीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के मुताबिक निपाह वायरस का इंफ़ेक्शन एंसेफ़्लाइटिस से जुड़ा है, जिसमें दिमाग़ को नुक़सान होता है. 5 से 14 दिन तक इसकी चपेट में आने के बाद ये वायरस तीन से 14 दिन तक तेज़ बुख़ार और सिरदर्द की वजह बन सकता है.

ये भी पढ़ें:  जेजेपी में सैंकड़ो कार्यकर्ता हुए शामिल, दुष्यंत बोले-'आया तो चाय पर था पर आप लोगों ने इसे रैली बना दी'

बीमारी के लक्षण क्या?

ये लक्षण 24-48 घंटों में मरीज़ को कोमा में पहुंचा सकते हैं. इंफ़ेक्शन के शुरुआती दौर में सांस लेने में समस्या होती है जबकि आधे मरीज़ों में न्यूरोलॉजिकल दिक्कतें भी होती हैं. साल 1998-99 में जब ये बीमारी फैली थी तो इस वायरस की चपेट में 265 लोग आए थे. अस्पतालों में भर्ती हुए इनमें से क़रीब 40% मरीज़ ऐसे थे जिन्हें गंभीर नर्वस बीमारी हुई थी और ये बच नहीं पाए थे. आम तौर पर ये वायरस इंसानों में इंफेक्शन की चपेट में आने वाली चमगादड़ों, सूअरों या फिर दूसरे इंसानों से फैलता है. मलेशिया और सिंगापुर में इसके सूअरों के ज़रिए फैलने की जानकारी मिली थी जबकि भारत और बांग्लादेश में इंसान से इंसान का संपर्क होने पर इसकी चपेट में आने का ख़तरा ज़्यादा रहता है.

अभी-अभी

दिल्ली के रोहणी इलाके में लड़की का अपहरण कर गोली मारकर हत्या, जाँच में जुटी पुलिस

देश की राजधानी दिल्ली के रोहणी इलाके से एक लड़की का अपहरण करके गोली मारकर हत्या

दिल्ली की अनाज मंडी इलाक़े में लगी भीषण आग, 31 लोगों की मौत, 50 से ज़्यादा लोगों को बचाया गया

दिल्ली के रानी झांसी रोड पर रविवार सुबह अनाज मंडी में भीषण आग लग गई.

जेजेपी नेता अजय चौटाला का बड़ा बयान, कहा-नैना नहीं बनेगी मंत्री, इन विधायकों को बनाएंगे मंत्री

जेजेपी नेता अजय चौटाला ने कहा कि हरियाणा सरकार में उनकी पत्नी नैना चौटाला मंत्री

मारे गए आईएसआई सरगना अबू बकर अल बगदादी की बहन को तुर्की फौजों ने सीरिया में गिरफ्तार किया

आतंकी संगठन आईएसआईएस के प्रमुख अबू बक्र अल-बगदादी की बहन को तुर्की ने सोमवार को

दिल्ली में प्रदुषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों को लताड़ा, कहा-ऐसे वातावरण में कोई कैसे जीएगा

भारत में प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने चिंता ज़ाहिर करते हुए मोदी सरकार और

हरियाणा में नए साल पहले लाखों सरकारी कर्मचारियों को सरकार का तोहफ़ा, इस भत्ते में की गई बढ़ोतरी

हरियाणा के लाखों सरकारी कर्मचारियों को नए साल से पहले बीजेजेपी सरकार ने तोहफा दिया

हरियाणा: करनाल में 5 साल की मासूम बच्ची 50 फ़ीट गहरे बोरवेल में गिरी, बचाव अभियान जारी

हरियाणा के करनाल में एक पांच साल की बच्ची खेलते हुए 50 फीट गहरे बोरवेल

हरियाणा में क़रीब 45000 विद्यार्थियों को मिलेगी वाहन सुविधा, जानिए क्या है यह योजना

हरियाणा में शिक्षा विभाग ने उन बच्चों को लेकर एक अहम कदम उठाया है जो

हरियाणा के इन ज़िलों में 4 और 5 नवंबर को स्कूल रहेंगे बंद, प्रदूषण का सबसे ज़्यादा असर पड़ रहा है बच्चों पर

दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण के कारण एयर क्वॉलिटी बहुत खराब श्रेणी की पहुंच गई है.

जासूसी कांड पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर लगाया आरोप, प्रियंका गांधी को भी मिला व्हाट्सएप मैसेज

व्हाट्सएप जासूसी कांड को लेकर कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है.

फेसबुक पर हमें पसंद करें..