पूरब और पश्चिम के एक गाने के संदर्भ में रवीश कुमार ने की कर्नाटक की व्याख्या

“अभी तुमको मेरी ज़रूरत नहीं, बहुत चाहने वाले मिल जाएंगे, अभी रूप का एक सागर हो तुम, कंवल जितने चाहोगी खिल जाएंगे।”

उपरोक्त पंक्तियों का संबंध कर्नाटक में चल रही गतिविधियों से नहीं है मगर इस गाने में नायक मनोज कुमार का घर देखकर लगता है कि वे कम से कम राज्यपाल तो होंगे ही। “ये दीपक जला है जला ही रहेगा।” गाने की इस पंक्ति से लगता है कि इसका संबंध भाजपा है। भाजपा का पूर्व चुनाव चिन्ह यानी जनसंघ के ज़माने में दीपक ही था। इसलिए इस गीत को हम भाजपा की परंपरा में भी देख सकते हैं। पृष्ठभूमि में दिखने वाली इमारत भी राजभवन जैसी है। मनोज कुमार दरवाज़े को ऐसे खोलते हैं जैसे राज्यपाल किसी विधायक को भीतर बुला रह हों।

“तब तुम मेरे पास आना प्रिय मेरा दर खुला है खुला ही रहेगा, तुम्हारे लिए।“

प्रसंगवश मनोज की यह पंक्ति दलबदल को प्रोत्साहित करती है क्योंकि उनकी बातों से लगता है कि नायिका गांधी मूर्ति के सामने कांग्रेस जेडीएस विधायकों के साथ धरना प्रदर्शन कर रही है। मनोज सीधे सीधे सत्ता का प्रलोभन देते हुए कह रहे हैं कि जब तुम्हारी उम्र ढल जाएगी, जब चाहने वाले चले जाएंगे तब मेरे पास आना। अर्थात वे बता रहे हैं कि भविष्य में नायिका के साथ क्या हो सकता है इसलिए वो अभी उनके पास आ जाए।

ये भी पढ़ें:  मीडिया: गोदी से उतरें तो जाएं कहां ?

प्रणय निवेदन हेतु मनोज कुमार के हाथों में एक फाइल है, जिसे देखते हुए विधायकों के दस्तख़त की कल्पना सहज ही की जा सकती है। मुमकिन है नायक के फोल्डर में नायिका के लिए उज्जवला का सिलेंडर और वृद्धावस्था पेंशन का हज़ार रुपया हो।

यह भी हो सकता है कि मनोज कुमार अपने प्रेम पत्रों को सहेजे हुए नायिका सायरा बोना से अंतिम निवेदन कर रहे हों। गाने में नायिका का चित्रण भारतीय नहीं है। सायरा बानो भारतीय लोक कथाओं में रात के वक्त दिखने वाली डरावनी अ-नायिकाओं की तरह लगती हैं मगर दिन के वक्त उनके लिबास और ज़ुल्फों की बनावट से संकेत मिलता है कि उनका ताल्लुक यूरोप के किसी मुल्क से रहा होगा। बुढ़िया माई का केस की अतिरिक्त स्मृतियों जाग उठती हैं।

ये भी पढ़ें:  ब्लॉग: रोजगार को लेकर आखिर पीएम मोदी का नज़रिया क्या है?

प्रस्तुत आलोचना में यह कहना चीन समेत समीचीन होगा कि नायिका के साथ मनोज कुमार भारतीय शास्त्रों के मुताबिक गंधर्व व्यवहार कर रहे हैं मगर अपने प्रणय निवेदन में नायिका का अपमान भी कर रहे हैं।

“दर्पण तुम्हें जब डराने लगे, जवानी भी दामन छुड़ाने लगे, तब तुम मेरे पास आना प्रिये, मेरा सर झुका है झुका ही रहेगा तुम्हारे लिए। कोई जब तुम्हारा ह्रदय तोड़ दे..”

प्रेमिका के लिए ऐसी बददुआ वैदिक परंपरा के अनुकूल नहीं है। यह कूल नहीं है। एक भूल है। नायक मनोज कुमार नायिका की अभिव्यक्ति और पसंद की स्वतंत्रता के पक्षधर दिखते हुए भी प्रलोभन के आचरण से अपनी ही मान्यताओं का खंडन कर देते हैं। इसलिए सायरा बानो इस गाने में मनोज कुमार को लेकर आश्वस्त नहीं दिखती हैं। वे समझ जाती हैं कि ये फ्राड है। नारी स्वतंत्रता को लेकर क्लियर नहीं है। मनोज कुमार सौ करोड़ देने का प्रस्ताव तो नहीं करते हैं मगर गाने की एक पंक्ति से लगता है कि दोनों के बीच लेनदेन की कोई बातचीत हुई होगी।

ये भी पढ़ें:  नोटबंदी के समय उल्लू बने लोग हाज़िर हों!

 

“कोई शर्त होती नहीं प्यार में, मगर प्यार शर्तों पर तुमने किया”

सप्ताहांत में पूरब पश्चिम के इस गाने को सुनिए। हमारी यह व्याख्या हिन्दी परीक्षा साहित्य की अलौकिक कृति है। गाने को इस संदर्भ में देखने की परंपरा की बुनियाद डालते हुए मैंने कहा था कि हम शिलान्यास ही नहीं करते, उदघाटन भी करते हैं। काम कुछ नहीं करते मगर विज्ञापन जमकर करते हैं। हम अनैतिक नहीं हैं क्योंकि हमसे पहले सब अनैतिक हो चुके हैं। हम सिस्टम में यकीन नहीं करते क्योंकि सिस्टम पहले ही ध्वस्त हो चुका था। हम अजेय हैं। हम पराजित नहीं है इसलिए सत्य हमसे परिभाषित है। बाकी सब वाचिक है। प्रमाणित नहीं है।

 

ये लेख रवीश कमुार के फेसबुक पेज से लिया गया है.

अभी-अभी

जेजेपी नेता अजय चौटाला का बड़ा बयान, कहा-नैना नहीं बनेगी मंत्री, इन विधायकों को बनाएंगे मंत्री

जेजेपी नेता अजय चौटाला ने कहा कि हरियाणा सरकार में उनकी पत्नी नैना चौटाला मंत्री

मारे गए आईएसआई सरगना अबू बकर अल बगदादी की बहन को तुर्की फौजों ने सीरिया में गिरफ्तार किया

आतंकी संगठन आईएसआईएस के प्रमुख अबू बक्र अल-बगदादी की बहन को तुर्की ने सोमवार को

दिल्ली में प्रदुषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों को लताड़ा, कहा-ऐसे वातावरण में कोई कैसे जीएगा

भारत में प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने चिंता ज़ाहिर करते हुए मोदी सरकार और

हरियाणा में नए साल पहले लाखों सरकारी कर्मचारियों को सरकार का तोहफ़ा, इस भत्ते में की गई बढ़ोतरी

हरियाणा के लाखों सरकारी कर्मचारियों को नए साल से पहले बीजेजेपी सरकार ने तोहफा दिया

हरियाणा: करनाल में 5 साल की मासूम बच्ची 50 फ़ीट गहरे बोरवेल में गिरी, बचाव अभियान जारी

हरियाणा के करनाल में एक पांच साल की बच्ची खेलते हुए 50 फीट गहरे बोरवेल

हरियाणा में क़रीब 45000 विद्यार्थियों को मिलेगी वाहन सुविधा, जानिए क्या है यह योजना

हरियाणा में शिक्षा विभाग ने उन बच्चों को लेकर एक अहम कदम उठाया है जो

हरियाणा के इन ज़िलों में 4 और 5 नवंबर को स्कूल रहेंगे बंद, प्रदूषण का सबसे ज़्यादा असर पड़ रहा है बच्चों पर

दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण के कारण एयर क्वॉलिटी बहुत खराब श्रेणी की पहुंच गई है.

जासूसी कांड पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर लगाया आरोप, प्रियंका गांधी को भी मिला व्हाट्सएप मैसेज

व्हाट्सएप जासूसी कांड को लेकर कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है.

हरियाणा सरकार ने जारी किए आदेश, किसानों को इन 5 ज़िलों में मिलेगी पराली नष्ट करने वाली मशीनें 

देश का आधा से ज़्यादा हिस्सा इन दिनों प्रदूषण की चपेट में है. हर साल

दिल्ली में लोगों का सांस लेना मुश्किल, कई ईलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स 1200 के पार पहुंचा

दिल्ली में प्रदूषण सबसे खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है. कई इलाकों में एयर क्वालिटी

फेसबुक पर हमें पसंद करें..