Close

राम मंदिर निर्माण के लिए भेंट की 11 लाख रुपए की राशि, दिव्यांगों के लिए बनेगा आश्रम

News

जयपुर: नारायण सेवा संस्थान ने उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए 11 लाख रुपए की सहायता राशि भेंटस्वरूप दी है. साथ में नारायण सेवा संस्थान ने उत्तर प्रदेश के अयोध्या में दिव्यांग लोगों के लिए आश्रम बनाने का निर्णय किया है. इसका नाम नारायण दिव्यांग सहायता सेंटर होगा और इस आश्रम का निर्माण कार्य जल्द ही शुरू होगा. 

नारायण सेवा संस्थान के अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल और निदेशक वंदना अग्रवाल ने 11 लाख रुपए की सहायता राशि का चेक राजस्थान विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता और प्रदेश के पूर्व गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया को उदयपुर में सौंपा. 

राजस्थान विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता और प्रदेश के पूर्व गृहमंत्री  गुलाब चंद कटारिया ने इस अवसर पर कहा, हमें खुशी है कि नारायण सेवा संस्थान नेक काम के लिए आगे आया है और संस्थान ने रामजन्मभूमि मंदिर के लिए 11 लाख रुपए का योगदान किया. साथ ही, हमें इस बात की भी खुशी है कि यह नेक पहल नारायण दिव्यांग सहायता सेंटर के निर्माण के साथ भी जुड़ी है. 

नारायण सेवा संस्थान के अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने कहा, राम मंदिर के निर्माण में अपनी ओर से सहायता करना हम सभी के लिए खुशी का पल है. साथ ही हम यह आश्वस्त करना चाहते हैं कि अयोध्या में बनने वाला नारायण दिव्यांग सहायता सेंटर विभिन्न दिव्यांगों के कल्याण की दिशा में काम करेगा. 

इस केंद्र पर निशुल्क प्रोस्थेसिस और कौशल विकास केंद्र के साथ-साथ सुधारात्मक सर्जरी के लिए मरीजों को आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी. हमने समाज के दिव्यांग वर्ग के लोगों को सशक्त बनाने और उन्हें स्थायी आजीविका उपलब्ध कराने का उद्देश्य सामने रखा है, ताकि वे समाज की मुख्यधारा में शामिल हो सकें. 

नारायण सेवा संस्थान सामुदायिक जरूरतों के लिए काम कर रहा है और यह पहली बार नहीं है कि संस्थान ने एक नेक काम के लिए दान किया है. संगठन ने विभिन्न राज्यों में कोरोना महामारी के दौरान राशन किट उपलब्ध कराए हैं. संस्थान की ओर से प्रतिवर्ष दिव्यांगों के लिए सामूहिक विवाह समारोह आयोजित किए जाते हैं. संस्थान ने अब तक 4,21,250 सर्जरी की हैं और हाल ही दिसंबर महीने में संस्थान ने 35 वें सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन किया. 



न्यूज़24 हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top